राहुल गांधी से मिले कांग्रेस के पांच सीएम, गहलोत बोले- अच्छी बातचीत हुई, उम्मीद है उचित फैसला लेंगे

0
150

नई दिल्ली: कांग्रेस में ‘इस्तीफा संकट’ के बीच कांग्रेस शासित 5 राज्यों के मुख्यमंत्री आज राहुल गांधी से मुलाकात की. इन मुख्यमंत्रियों में पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ, पुडुचेरी के सीएम नारायण सामी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शामिल थे.

मुलाकात के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ”अच्छी बातचीत हुई है, हमने अपने कार्यकार्ताओं की बात से उनको अवगत कराया. हमने खुलकर उनसे बातचीत की है. चुनाव में हार जीत होती रहती है, उन्होंने हमारी बात ध्यान से सुनी है. हम उम्मीद करते हैं कि वो हमारी बात पर ध्यान देंगे और समय आने पर उचित फैसला लेंगे. हमने उनसे मिलकर अपनी भावना बता दी है.”

एक ओर जहां कांग्रेस के मुख्यमंत्री राहुल गांधी को मनाने पहुंचे वहीं पंजाब से सांसद बाजवा कह रहे हैं कि राहुल को मनाना है तो खुद पांचों सीएम इस्तीफा दें. हाल ही में राहुल गांधी ने किसी भी सीएम और अध्यक्ष के इस्तीफा ना देने पर नाराजगी जाहिर की थी.

राहुल गांधी से मुलाकात से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर रिजल्ट के एक महीने बाद हार की जिम्मेदारी ली. साथ ही उन्होंने राहुल गांधी के प्रति समर्थन जताया. गहलोत ने राहुल गांधी से साथ बैठक से ठीक पहले ट्वीट कर कहा कि 2019 के चुनाव में हार की जिम्मेदारी हम सभी की है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”राहुल गांधी के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए उनके आवास पर आज कांग्रेस शासित राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों की बैठक होगी. हम सभी ने यह कहा है कि हम कांग्रेस अध्यक्ष के साथ हैं और 2019 की पराजय की जिम्मेदारी हम सभी की है.”

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी. हालांकि कांग्रेस कार्यसमिति ने उनकी इस पेशकश को अस्वीकार कर दिया था. इस पूरी खींचतान के बीच राहुल गांधी अब भी इस्तीफे पर अड़े हैं.

सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी ने पार्टी नेताओं से कहा है कि गांधी परिवार के बाहर से किसी नेता को अध्यक्ष बनाएं. वहीं कांग्रेस नेता इस बात से इनकार कर रहे हैं. 100 से अधिक नेताओं ने राहुल गांधी के प्रति समर्थन जताते हुए पद से इस्तीफा दे दिया है. वहीं इन इस्तीफों के बाद पार्टी के सीनियर नेताओं पर इस्तीफे के लिए दबाव बनाया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.