दिल्ली: मंदिर तोड़े जाने को ओवैसी ने बताया गलत, कहा- यह देश की बहुलता-विविधता पर हमला

0
100

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के चावड़ी बाजार के लाल कुंआ इलाके में तनाव का माहौल बरकरार है. रविवार देर रात पार्किंग के चलते शुरू हुआ विवाद उस समय साम्प्रदायिक रंग ले लिया जब एक समुदाय के कुछ लोगों ने इलाके में स्थित एक मंदिर पर पथराव कर दिया. जिससे मंदिर को क्षति पहुंची. दोनों ही समुदाय आमने सामने आ गये.

इस मामले को लेकर एआईएमआईएम के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बड़ा बयान दिया. ओवैसी ने मंदिर तोड़े जाने की निंदा की है. ओवैसी ने ट्विटर पर लिखा- किसी भी पूजा स्थल या पूजा करने वाले पर हमला हमारे प्रिय देश की बहुलता और विविधता पर हमला है. बर्बरता की यह कार्रवाई अत्यंत निंदनीय है और मैं मांग करता हूं कि दोषियों पर कार्रवाई की जाए और उन्हें समयबद्ध तरीके से दोषी ठहराया जाए.

बता दें कि इलाके में किसी तरह की कोई हिंसा ना हो इसे लेकर पुलिस ने भारी बंदोबस्त किया हुआ है. आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने पुलिस बल के साथ इलाके का दौरा किया. इसके साथ ही उन्होंने सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा भी की. पुलिस ने दोनों समुदायों के बीच दूरी बनाये रखने के लिए बकायदा बैरिकैडिंग की हुई है और अकारण किसी व्यक्ति को इलाके में आने जाने नहीं दिया जा रहा है. इस बीच सोमवार दोपहर को उस समय माहौल गर्म हो गया जब दोनों तरफ से नारेबाजी होने लगी.

दोनों पक्षों में इस बात को लेकर होड़ लगी थी कि कौन जोर से नारेबाजी करता है. वहीं पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच सुलह समझौता कराने की कोशिश की. खुद सेंट्रल जिले के डीसीपी एमएस रंधावा ने दोनों समुदायों के प्रतिष्ठित लोगों को साथ लेकर बातचीत करवाई जिससे की मामला शांत हो सके. लेकिन अभी तक दोनों ही पक्षों में से कोई समझने को तैयार नहीं है.

अभी स्थिति तनावपूर्ण है लेकिन शांत है. पुलिस के साथ साथ इलाके में सीआरपीएफ भी तैनात है. सोमवार को एक समाचारपत्र के फोटोग्राफर को सिर में चोट लगी है. जिनका कहना है कि कुछ उपद्रवियों ने उन पर हमला किया. पुलिस मंदिर को क्षति पहुंचाने के मामले में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.