5 लाख तक की सालाना इनकम होगी टैक्स फ्री, पर भरना होगा ITR

0
72

Indian Union Budget 2019: 5 लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को आयकर के सेक्शन 87ए के तहत छूट का लाभ दिया जाएगा. इस छूट का लाभ तभी पाया जा सकता है जब आप रिर्टन भरें.

अगर आपकी सालाना इनकम पांच लाख रुपये या उससे कम है और आपको लगता है कि अब आप टैक्स से जुड़े किसी भी नियम से बच गए हैं तो आप गलत हैं. सरकार की नई व्यवस्था के तहत आपको 5 लाख रुपये तक भले ही टैक्स नहीं चुकाना होगा, लेकिन इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) दाखिल करना अनिवार्य होगा. मोदी सरकार ने अपने अंतरिम बजट में इसकी घोषणा की थी. अभी तक 60 साल से कम उम्र के लोगों को 2.5 लाख रुपये तक आयकर की छूट दी जाती रही है, जबकि सीनियर सिटीजन के लिए यह सीमा 3 लाख रुपये तक निर्धारित है.

मोदी सरकार आज दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश करने जा रही है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश के सामने आज बजट रखेंगी. ऐसे में अगर आपकी सालाना आय छूट की तय सीमा से ज्यादा है तो आपके लिए रिटर्न भरना जरूरी होगा. 5 लाख रुपये तक की सालाना आय वालों को आयकर के सेक्शन 87ए के तहत छूट का लाभ दिया जाएगा. इस छूट का लाभ तभी पाया जा सकता है जब आप रिर्टन भरें. अगर आपकी पांच लाख रुपये सालाना आय है और आप रिटर्न नहीं भरते हैं तो आपको आयकर विभाग का नोटिस आ सकता है.

अंतरिम बजट में किया गया था ऐलान
अंतरिम बजट पेश करते हुए वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने संसद को बताया था कि, जिस किसी आयकरदाता की सालाना आय 5 लाख रुपये है, उन्हें टैक्स में छूट दी जाएगी इसलिए उन्हें कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा. टैक्सटूविन डॉट इन के सीईओ अभिषेक सोनी ने कहा, बजट के प्रस्ताव के मुताबिक, अगर आपकी सालाना 5 लाख रुपये या इससे कम है तो आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा.

रिटर्न फाइल करना होगा जरूरी
आयकर छूट का फायदा उठाने के लिए टैक्स रिटर्न फाइल करना जरूरी होगा. नई व्यवस्था के मुताबिक वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान टैक्स छूट का फायदा उठाने के लिए पहले आपको अपनी सालाना आय घोषित करनी होगी. इसके लिए आपको रिटर्न भरना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.