बारिश से यूपी और एमपी में बुरा हाल: इटावा में सड़क बनी समंदर, दमोह में भी जनजीवन अस्त-व्यस्त

0
182

नई दिल्ली: लगातार हो रही बरसात के कारण यूपी और एमपी में बुरा हाल हो गया है. जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. एक तरफ इटावा में सड़कों का हाल किसी समंदर जैसा दिख रहा है तो वहीं स्थानीय थाने में भी पानी घुस गया है. दूसरी तरफ एमपी के दमोह में तो हालात और भी बुरे हैं, लोग जान जोखिम में डालकर सड़क पार कर रहे हैं. हर जगह पानी जमा हो गया है जिससे बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है.

इटावा का हुआ बुरा हाल 

पहली मानसून की बारिश में ही इटावा का बुरा हाल हो गया है. पूरा शहर जलमग्न है. पानी जमा हो जाने के कारण रेलवे अंडर ब्रिज में कई गाड़िया फंसी हुई है. बाज़ार में पानी भर जाने के कारण कई दुकाने बंद है. वही ज़िला अस्पताल कैम्पस में भी पानी भर गया. साथ ही पुलिस चौकी भी जलमग्न हो गई है. पूरे शहर में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. पहली बरसात में शहर के इस हालात से साफ हैं कि नगरपालिका ने मानसून से निपटने के लिए कोई इंतिज़ाम नही किये थे.

एमपी के दमोह में जान जोखिम में डाल रहे हैं लोग

मध्य प्रदेश के दामोह में भी स्थिति खराब है. वहां भी लगातार हो रही बारिश से बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है. तेंदूखेड़ा में भारी बारिश से बाढ़ के हालात बन गए हैं. हर तरह पानी ही पानी नजर आ रहा है. पानी भर जाने के कारण लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है. यातायात प्रभावित हो गई है.

बारिश के दिनों में जब नदी-नाले उफान पर हों तो उनसे लोगों के सतर्क रहने की हिदायत दी जाती है लेकिन इसके बावजूद लोग अपनी जान जोखिम में डालने से पीछे नहीं हट रहे हैं. एक ऐसा ही मामला दमोह जिले के कंचन नाले का है, जहां दो दिनों से लगातार हो रही बारिश के बाद आज सुबह कुछ देर के लिए बारिश रुकी लेकिन नाले के ऊपर बने पुल पर पानी तेज बहाव में था. तभी पुल के एक पार खड़े लोगों में से तीन लोग एक बाइक के साथ पुल पार करने लगे तभी बीच पुल पर जाकर बाइक ने संतुलन खो दिया. तीनो बाइक सवार भी बाइक को बचाने के चक्कर में डूबने लगे. तभी एक और युवक पैदल ही उन्हें बचाने दौड़ा और आखिरकार चारों ने मिलकर न सिर्फ खुद को बचाया बल्कि बाइक भी सुरक्षित निकाल ली.

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में जल जमाव

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में मानसून की वजह से नगर की निचली बस्तियों सहित शहर में जगह-जगह हुआ जल जमाव हो गया है. इससे शासकीय कार्यालय परिसर भी अछूते नही रहे. ऐसे में जहां निचली बस्तियों के रहवासियों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ा तो वही शासकीय कार्यालयों कें परिसर एवं उसके आसपास के दुकानों के चारों ओर हुये जल भराव के कारण दुकानदारों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.