पाकिस्तान में ‘मीडिया सेंसरशिप’ के खिलाफ शीर्ष अदालत की शरण लेगा विपक्ष

0
60

इस्लामाबाद, पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने देश में मीडिया को सेंसर करने का आरोप लगाते हुए विपक्षी दलों के नेताओं की गिरफ्तारी की निंदा की है। विपक्षी दलों ने मीडिया पर पाबंदी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का फैसला किया है। पाकिस्तानी अखबार जंग की रिपोर्ट के मुताबिक, विपक्षी नेताओं की ‘रहबर समिति’ की सोमवार को हुई बैठक में इस आशय का फैसला लिया गया। बैठक के बाद समिति के संयोजक व खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा में नेता विपक्ष अकरम खान दुर्रानी ने संवाददाताओं से कहा कि मीडिया चैनलों पर पाबंदी लगाई जा रही है। हम राजनैतिक और मीडिया सेंसरशिप के खिलाफ शीर्ष अदालत में अपील करेंगे।

उन्होंने कहा कि पूरा देश देख रहा है कि किस तरह से विपक्षी नेताओं की रैलियों को रोका जा रहा है, उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्षी नेता इन सब हरकतों से डरने वाले नहीं हैं। उन्हें इनसे निपटना आता है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी और अन्य विपक्षी नेताओं की गिरफ्तारी के खिलाफ जवाबदेही ब्यूरो के दफ्तर पर प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने 25 जुलाई को देश में काला दिवस मनाने का ऐलान किया।

25 जुलाई को केंद्र की सत्ता में इमरान सरकार के एक साल पूरे हो रहे हैं।

एक अन्य बयान में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग की नेता मरियम नवाज की सभा की मीडिया कवरेज को रोकने का आरोप लगाते हुए इमरान सरकार की निंदा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.