महाराष्ट्र बीजेपी का ‘बड़ा बुधवार’, कई विपक्षी दिग्गज होंगे पार्टी में शामिल

0
92

मुंबई: 31 जुलाई की तारीख महाराष्ट्र बीजेपी के लिये एक बड़ा दिन है. कांग्रेस और एनसीपी जैसी विपक्षी पार्टियों के कई बड़े नेता कल आधिकारिक तौर पर बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं. विपक्षी पार्टियों से आनेवाले इन नेताओं में 4 विधायक और 52 पार्षद शामिल हैं. इस साल ये पहली बार हो रहा है कि इतने सारे विपक्षी नेता एकसाथ बीजेपी में शामिल हो रहे हैं.

एनसीपी के विधायक शिवेंद्रसिंह भोसले, वैभव पिचड, संदीप नाईक और कांग्रेस के विधायक कालीदास कोलंबकर ने महाराष्ट्र विधानसभा के स्पीकर हरिभाऊ बागडे से अलग अलग मुलाकात करके आज अपने इस्तीफे सौंप दिये. बुधवार की दोपहर मुंबई के गरवारे क्लब में ये सभी आधिकारिक रूप से बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करेंगे. इन 4 विधायकों के अलावा नवी मुंबई महानगरपालिका में एनसीपी के 52 पार्षद भी बीजेपी की सद्स्यता लेंगे. पार्टी प्रवेश समारोह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की मौजूदगी में होगा.

लोकसभा चुनाव के पहले कांग्रेस और एनसीपी के कई दिग्गज नेता बीजेपी में शामिल हो चुके हैं, जिनमें पूर्व नेता प्रतिपक्ष राधाकृष्ण विखे पाटिल सबसे बडा नाम था. कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने भी शिवसेना की सदस्यता ले ली. चुनाव के बाद भी दलबदल का ये सिलसिला जारी रहा. पिछले हफ्ते ही एनसीपी के मुंबई इकाई के प्रमुख और पूर्व विधायक सचिन अहिर शिवसेना में शामिल हुए. इसी महीने शाहापुर से एनसीपी के विधायक पांडुरंग बरोरा ने भी पार्टी से इस्तीफा देकर शिवसेना की सदस्यता ले ली.

अपनी पार्टियों से नेताओं के इस तरह से पलायन को लेकर कांग्रेस और एनसीपी में हडकंप मचा हुआ है. जो आला नेता अब भी इन दोनो पार्टियों में बचे हुए हैं, उनका कहना है कि सत्ताधारी गठबंधन इनकम टैक्स और प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई का डर दिखा कर उनके नेताओं को अपने साथ ले रही है.

बीजेपी में अचानक आई विपक्षी नेताओं की इस बाढ से खुद बीजेपी के भीतर भी तनातनी शुरू हो गई. पार्टी के पुराने नेता चिंतित हो गये हैं कि बाहर से आनेवाले नेताओं को नवाजने के लिये कहीं उनकी उम्मीदों पर पानी न फेर दिया जाये. कई नेता असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. ऐसे नेताओं में खुलकर सामने आईं नवी मुंबई के बेलापुर से बीजेपी विधायक मंदा म्हात्रे जिन्होने मुख्यमंत्री से मिलकर अपना विरोध जताने का फैसला किया है. म्हात्रे के मुताबिक विपक्षी पार्टियों के जिन नेताओं का राजनीतिक करियर खत्म हो गया है, वे बीजेपी में आकर पुनर्वसन की आस लगा रहे हैं.

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव अक्टूबर में होने हैं और उससे पहले कई और दिग्गज नेताओं के बीजेपी और शिवसेना में आने के कयास लगाये जा रहे हैं जिनमें एनसीपी के वरिष्ठ नेता मधुकर पिचड और नवी मुंबई से एनसीपी के दबंग नेता गणेश नाईक का नाम शामिल है. 1 अगस्त से मुख्यमंत्री राज्यभर में एक रथयात्रा निकालेंगे जिसके दौरान भी कई विपक्षी नेता बीजेपी में शामिल होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.