नहीं रहीं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज: आज दोपहर बीजेपी कार्यालय में अंतिम दर्शन, शाम तीन बजे होगा अंतिम संस्कार

0
33

नई दिल्ली: पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार रात निधन हो गया, वह 67 वर्ष की थीं. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के सूत्रों ने बताया कि स्वराज को रात करीब साढ़े नौ बजे के करीब अस्पताल लाया गया और उन्हें सीधे इमरजेंसी वॉर्ड में ले जाया गया. एम्स के चिकित्सकों ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. रात करीब 12.30 बजे सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को उनके दिल्ली स्थित घर ले जाया गया. सुबह 8 बजे से 11 बजे तक जंतर-मंतर स्थित उनके आवास पर उनका अंतिम दर्शन किया जा सकेगा. कल शाम करीब तीन बजे लोधी रोड पर सुषमा स्वराज का अंतिम संस्कार होगा. पढ़ें लाइव अपडेट

बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया कि कल दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच बीजेपी कार्यालय में सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. तीन बजे के बाद उनका अंतिम संस्कार होगा. सुषमा स्वराज के निधन की खबर सुनते ही राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सहित कई वरिष्ठ नेता एम्स पहुंचे. सोशल मीडिया के जरिए तमाम नेताओं ने अपना दुख व्यक्त किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर मंगलवार को गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया. पीएम मोदी ने एक बाद एक कई ट्वीट करते हुए पूर्व विदेश मंत्री को असाधारण वक्ता और उत्कृष्ट सांसद बताया और कहा कि सभी राजनीतिक दलों के लोग उनकी प्रशंसा करते थे और उनका सम्मान करते थे. पीएम मोदी ने लिखा, ”मोदी ने कहा,‘‘जब बात विचारधारा की आती थी अथवा भाजपा के हितों की आती थी तो वह किसी प्रकार का समझौता नहीं करती थीं, जिसे आगे ले जाने में उनका बहुत योगदान था.’’

उन्होंने कहा,‘‘एक उत्कृष्ट प्रशासक, सुषमा जी ने जो भी मंत्रालय संभाला, उसमें उच्च मानक स्थापित किए. उन्होंने विभिन्न देशों के साथ भारत के संबंधों को सुधारने में अहम भूमिका निभाई. एक मंत्री के तौर पर हमने उनका करुणामय पक्ष भी देखा जो विश्व के किसी भी कोने में परेशान भारतीय की मदद करता था.’’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने ट्वीट किया,‘‘सुषमा स्वराज के निधन के बारे में जानकर बेहद स्तब्ध हूं. देश ने एक प्यारा नेता खो दिया है जो सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा का प्रतीक था. दूसरों की मदद के लिए वह हमेशा तैयार रहती थीं. भारत की जनता की सेवा के लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा.’’ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वह बेहद मूल्यवान सहयोगी के असामयिक निधन से गहरे सदमे और दुख में हैं. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा,‘‘सुषमा स्वराज के निधन के बारे में सुनकर बेहद स्तब्ध हूं. इस खबर को स्वीकार करना मुश्किल है, पूरा देश शोकाकुल है और उससे भी ज्यादा विदेश मंत्रालय.’’

कांग्रेस पार्टी ने भी स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त किया है. पार्टी ने कहा,‘‘सुषमा स्वराज के असामयिक निधन के बारे में सुनकर हम दुखी हैं. उनके परिवार और स्नेही जनों के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं.’’ कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूँ. वह एक अद्भुत नेता थीं जिनकी पार्टी लाइन से इतर मित्रता थी.’ उन्होंने कहा, ‘दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. ऊॅं शांति.’

बता दें कि मंगलवार को जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने और राज्य को दो केन्द्रशासित प्रदेशों में बांटने के सरकार के कदम से बेहद प्रसन्न स्वराज ने मंगलवार को ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई दी थी. स्वराज ने ट्वीट किया था, “नरेन्द्र मोदी जी- धन्यवाद प्रधानमंत्री. आपका बहुत-बहुत धन्यवाद. मैं अपने जीवनकाल में यह दिन देखने का इंतजार कर रही थी.” गौरतलब है कि बीजेपी की कद्दावर नेता रहीं सुष्मा स्वराज का 2016 में किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी. स्वास्थ्य कारणों से उन्होंने 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था. उनके परिवार में पति स्वराज कौशल और बेटी बांसुरी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.