झारखंड : युवती ने पीठ पर बनवाया मोदी का टैटू

0
112

रांची, केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को दिए गए विशेष दर्जे को हटाने के बाद इसके समर्थक अलग-अलग तरीके से इसका जश्न मना रहे हैं। झारखंड की राजधानी रांची में भी कुछ लोग इस मुद्दे को लेकर जश्न मनाने का एक अनोखा तरीका अपनाकर अपने शरीर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का टैटू बनवा रहे हैं। इस फैसले से बेहद खुश एक 21 वर्षीय युवती ने तो अपनी पीठ पर प्रधानमंत्री का पोर्टेट ही बनवा लिया। प्रधानमंत्री की प्रशंसक रही रिधी शर्मा (21) जम्मू एवं कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के खत्म होने पर प्रधानमंत्री की ऐसी दीवानी हुई कि उन्होंने अपनी पीठ पर प्रधानमंत्री मोदी का टैटू ही बनवा लिया।

रिधी ने आईएएनएस से कहा, “मैं प्रधानमंत्री की प्रशंसक प्रारंभ से ही हूं। उनके हार्डवर्क का कोई जवाब नहीं। किसी के लिए भी अनुच्छेद 370 हटाना और तीन-तलाक को अपराध बनाना एक साहसिक फैसला है।” 

मोदी के फैसला लेने के अंदाज से प्रभावित रिधी रांची में एक निजी कंपनी में कार्यरत हैं। वे कहती है, “सभी लोगों का जश्न मनाने का अपना तरीका होता है। मैं पीठ पर प्रधानमंत्री की तस्वीर बनाकर जश्न मना रही हूं।” 

इधर, रांची के लालपुर में टैटू बनाने वाले विनय कुमार कहते हैं, “रिधी मेरे पास मंगलवार को ही आई थीं, मैंने उन्हें बहुत समझाया। लेकिन दो दिन बाद वह फिर आईं और आखिरकर मैंने उनकी पीठ पर प्रधानमंत्री का टैटू बना दिया। इसे बनाने में छह घंटे का समय लगा।” 

उन्होंने कहा कि पिछले एक सप्ताह में दो-तीन लोग अपने शरीर पर प्रधानमंत्री का पोर्टेट टैटू के रूप में बनवा चुके हैं। हालांकि ये सभी लोग अपनी बांह पर टैटू बनवा रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि गौरव कुमार ने शनिवार को अपने बाईसेप्स (बांह) पर कमल के फूल (भाजपा का चुनाव चिह्न) का टैटू बनवाया है। उन्होंने कहा कि यह टैटू जीवनभर रहेगा और इसे मिटाया नहीं जा सकता है। 

इधर, रिधी द्वारा पीठ पर प्रधानमंत्री के टैटू बनाए जाने की हर तरफ चर्चा है। 

झारखंड भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल कुमार शाहदेव ने इस पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कामों से देश ही नहीं विदेश में भी लोगों की पसंद बने हुए हैं। झारखंड के लोग भी उन्हें पसंद करते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.