फिर पलटे डोनाल्ड ट्रंप, अब कहा- ‘अमेरिका नहीं करेगा कश्मीर मुद्दे पर भारत-पाक के बीच मध्यस्थता’

0
119

वॉशिंगटन: जम्मू-कश्मीर पर मधस्थता का ऑफर देने वाले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने पुराने बयान से पलट गए हैं. ट्रंप ने कहा है कि अब मध्यस्था का मुद्दा ही खत्म हो चुका है. कश्मीर भारत-पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है और अमेरिका इसमें कतई दखल नहीं देगा. अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्षवर्धन सिंगला ने ये दावा किया है.

भारत और पाकिस्तान को प्रोस्ताहित करेगा अमेरिका- भारतीय राजदूत

हर्षवर्धन सिंगला ने कहा कि अमेरिका अपनी पुरानी नीति पर चलना चाहता है. अमेरिका चाहता है कि भारत और पाकिस्तान एक साथ मिलकर इस मुद्दे को सुलझाने की कोशिश करें. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप स्पष्ट कर चुके हैं कि कश्मीर पर मध्यस्थता का प्रस्ताव अब विचाराधीन नहीं है. हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा है कि अमेरिका की कश्मीर पर दशकों पुरानी नीति रही है कि वह मध्स्थता नहीं करेगा, बल्कि द्विपक्षीय स्तर पर मामले को सुलझाने के लिए भारत और पाकिस्तान को प्रोस्ताहित करेगा.

श्रृंगला ने फॉक्स न्यूज से कहा, ‘‘ राष्ट्रपति ट्रंप ने बहुत स्पष्ट कहा था कि जम्मू-कश्मीर पर मध्यस्थता का उनका प्रस्ताव इस बात पर निर्भर करता है कि भारत और पाकिस्तान इसे स्वीकार करते हैं या नहीं. चूंकि भारत ने इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया, इसलिए यह स्पष्ट है कि अब यह प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है.’’

भारतीय राजदूत ने कहा, ‘‘संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस भी इस मामले में स्पष्ट हैं. उन्होंने कहा था कि यह मुद्दा भारत और पाकिस्तान को शिमला समझौते और लाहौर घोषणा पत्र के अनुसार, द्विपक्षीय आधार पर सुलझाना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए यह ऐसा मुद्दा है जो तीसरे पक्ष की मदद से नहीं सुलझाया जा सकता है. मैं मानता हूं कि राष्ट्रपति ट्रंप ने इसे स्पष्ट कर दिया है.’’

कश्मीर पर डोनाल्ड ट्रंप के झूठे दावे की हुई थी आलोचना

गौरतलब है कि 22 जुलाई को व्हाइट हाउस में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत को यह कहकर चौंका दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कश्मीर पर मध्यस्थता करने के लिए कहा था. हालांकि भारत ने साफ कर दिया था कि ऐसा कोई प्रस्ताव प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति को नहीं दिया और सभी मुद्दे पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय आधार पर सुलझाए जाएंगे.

370 पर भारत ने केवल एहतियाती कदम उठाए- भारतीय राजदूत

एक सवाल के जवाब में अमेरिका में भारतीय राजदूत हर्ष वर्धन श्रृंगला ने बताया कि कश्मीर को लेकर भारत सरकार की ओर से उठाए गए पाबंदियों जैसे कदम अस्थायी और एहतियाती हैं. श्रृंगला ने कहा, ‘‘ जब फैसले की घोषणा की गई तो सीमा पार से घुसपैठ और आतंकवादी गतिविधियों की आशंका थी. हम जानते हैं कि हिंसा के लिए उकसाया जाएगा, इसलिए हमनें केवल एहतियाती कदम उठाए. यहां तक कि हम बात कर रहे हैं, तब कश्मीर में लागू प्रतिबंध हटाए जा रहे हैं. हजारों की संख्या में लोग ईद मनाने के लिए घरों से निकले.’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.