पाकिस्तान /इमरान खान के बयान पर विदेश मंत्रालय की सफाई, कहा- हमारी परमाणु नीति में कोई बदलाव नहीं

0
83

इस्लामाबाद. कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इमरान खान और उनके मंत्री आए दिन भारत को परमाणु बम की धमकी दे रहे हैं। सोमवार दोपहर पाक प्रधानमंत्री के रुख में नाटकीय बदलाव दिखा। उन्होंने कहा- पाकिस्तान किसी देश पर पहले परमाणु हमला नहीं करेगा।

इमरान के इस बयान को भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के मीडिया ने फौरन लपक लिया। बात बढ़ी तो पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का ट्वीट आया। इसमें अपने ही प्रधानमंत्री के बयान का खंडन किया गया। इसमें कहा गया- पाकिस्तान की परमाणु नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ। प्रधानमंत्री के बयान को गलत समझा गया। 

इमरान की कही थी नई बात
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कई बार भारत को परमाणु हमले की धमकी दे चुके हैं। सोमवार दोपहर के पहले उन्होंने कभी ये नहीं कहा था कि उनका मुल्क पहले इन हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेगा। लेकिन, सोमवार को उनका रुख बदला। एक समारोह में कहा, “हम पहले परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं करेंगे। भारत-पाक दोनों के पास एटमी हथियार हैं। अगर हमारे बीच तनाव बढ़ता है तो यह पूरी दुनिया के लिए खतरा होगा।” 

प्रधानमंत्री की बात विदेश मंत्रालय को मंजूर नहीं
इमरान का बयान उनके ही विदेश मंत्रालय को पसंद नहीं आया। प्रधानमंत्री के बयान को मीडिया में काफी तवज्जो मिली। सोमवार रात को ही पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्र‌वक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैजल का ट्वीट आ गया। उन्होंने इमरान के बयान का खंडन कर दिया। फैजल ने कहा, “परमाणु हथियारों से लैस दो देशों के बीच जंग पर प्रधानमंत्री के बयान का गलत मतलब निकाला गया है। इस तरह के हथियार संपन्न दो देशों के बीच युद्ध नहीं होना चाहिए। लेकिन, पाकिस्तान की परमाणु नीति में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है।”

राजनाथ सिंह का बयान भी अहम
भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 17 अगस्त को जैसलमेर में पोकरण शक्ति स्थल का दौरा किया था। मीडिया से बातचीत में उन्होंने एक अहम बयान दिया। रक्षा मंत्री ने कहा था, “नो फर्स्ट यूज- आज तक हमारी न्यूक्लियर पॉलिसी यही है। भविष्य में क्या होगा, वो सब परिस्थितियों पर निर्भर करता है।” राजनाथ के इस बयान पर पाकिस्तान में काफी बवाल मचा था। भारत की परमाणु नीति के अनुसार, वो किसी भी देश के खिलाफ पहले इस ताकत का इस्तेमाल नहीं करेगा। दूसरी तरफ पाकिस्तान है। उसने अपनी नीति को कभी उजागर नहीं किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.