ढाई साल में ढाई कोस भी नहीं चल पाई योगी सरकार : अखिलेश

0
19

लखनऊ,उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार के 30 महीने पूरे होने पर समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में पिछले ढाई साल में सबसे ज्यादा हत्याएं हुई हैं। सरकार झूठा जश्न मना रही है, सच तो यह है कि सरकार ढाई साल में ढाई कोस भी नहीं चल पाई है। अखिलेश ने योगी सरकार के ढाई वर्ष पूरे होने पर सरकार के रिपोर्ट कार्ड पर सवाल उठाए। 

उन्होंने कहा कि “सरकार डबल इंजन वाली स्पीड से नहीं चल रही, बल्कि बैलगाड़ी की स्पीड से चल रही है। उप्र में ऐसा कोई शहर नहीं है, जहां बच्चों के साथ घटना नहीं हो रही है। मैनपुरी, सुल्तानपुर में शासन-प्रशासन मौन बैठा है। यह सब देखकर लग रहा है कि ढाई वर्ष में सरकार ढाई कोस भी चलने में असमर्थ रही है।”

अखिलेश ने कहा, “उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। डायल 100 नंबर को बिल्कुल खत्म कर दिया गया है। सरकार को सबसे ज्यादा समन ह्यूमन राइट कमीशन से मिले हैं। मऊ के नौजवान को बैटरी चोरी के आरोप में पीट-पीटकर मार डाला गया। रामपुर में शासन-प्रशासन क्या कर रहा है? प्रदेश में इतनी हत्याएं अब तक नहीं हुईं, जितनी हो रही हैं। सरकार के पास आंकड़े हैं, लेकिन वह आंकड़े छिपा रही है। ये तो सभी बातें छुपाकर ढाई वर्ष के कार्यकाल का झूठा जश्न मना रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “उन्नाव की बेटी को न्याय के लिए खुद आगे आना पड़ता है। अपनी फरियाद लेकर उसे मुख्यमंत्री आवास पर आकर आत्मदाह की कोशिश करनी पड़ती है। फिर पिता की हत्या हो जाती है। उसके बाद उसकी कार में ट्रक टक्कर मारता है, इस बेटी की मौसी और चाची की मौत हो जाती है। खुद उसकी जान अब भी सांसत में है।”

अखिलेश ने कहा, “प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है। आपने साल 2017 के बाद इंडस्ट्रियल पॉलिसी बनाई है। लेकिन तमाम दावों के बाद भी कोई बड़ा निवेश नहीं आया। आप जनता को बताएं कि कितनी नौकरी दी और कितनों को रोजगार दिया?”

सपा अध्यक्ष ने कहा, “केंद्र सरकार का शौचालय पर इतना जोर इसलिए है कि देश की जनता को इसमें उलझाकर सरकार ने बड़े-बड़े सौदे अमेरिका, रूस, इजरायल से कर लिए। डिफेंस कॉरिडोर के नाम पर भ्रम फैलाया जा रहा है। सरकार बड़े-बड़े रक्षा सौदे कर रही है और हमें शौचालय में उलझा दिया गया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.