पाकिस्तान : मांग में कमी के बाद इंडस मोटर्स ने उत्पादन बंद किया

0
31

कराची, टोयोटा के वाहनों का निर्माण करने वाली इंडस मोटर्स कंपनी (आईएमसी) ने सितंबर के शेष दिनों के लिए उत्पादन बंद करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही सितंबर में कंपनी के गैर उत्पादन वाले दिनों की संख्या 15 हो गई है। कंपनी ने यह फैसला मांग में लगातार कमी आने के कारण लिया है। डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, आईएमसी के एक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कहा कि कंपनी पहले ही जुलाई में आठ और अगस्त में 11-12 एनपीडी (नव उत्पाद विकास) का हश्र देख चुकी थी।

उन्होंने कहा कि विभिन्न इंजन क्षमताओं की कारों पर 2.5-7.5 प्रतिशत संघीय उत्पाद शुल्क (एफईडी), रुपये-डॉलर के संदर्भ में आसमान छूती कीमतों के साथ-साथ आयातित पुर्जो और कच्चे माल पर अतिरिक्त आयात शुल्क और ब्याज की ऊंची दरों के कारण उनके ज्यादातर वाहन बाजार से बाहर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि सितंबर में आधा महीना तो बंद ही रहा है। 

उन्होंने कहा कि आईएमसी संयंत्र और देशभर में डीलरों के पास लगभग 3,000 बिना बिकी कारों का ढेर लग गया है। संयंत्र सितंबर में अपनी क्षमता का सिर्फ 50 प्रतिशत का उत्पादन कर सकता है।

इसी बीच, टोयोटा के एक विक्रेता ने बताया कि आईएमसी उत्पादन 20-30 सितंबर तक बंद रहेगा।

पिछले साल जुलाई-अगस्त में जहां टोयोटा कॉरोला का उत्पादन 8,804 और बिक्री 8,770 था वहीं इस साल इसी दौरान उत्पादन 5,308 और बिक्री सिर्फ 3,708 गाड़ियों की रही। जहां उत्पादन में 40 फीसदी गिरावट दर्ज की गई वहीं बिक्री में यह गिरावट 57 फीसदी दर्ज की गई।

टोयोटा हीलक्स का उत्पादन 42 प्रतिशत गिरकर 1,383 से गिरकर 793 गाड़ियों पर और बिक्री 44 प्रतिशत गिरकर 1,292 से गिरकर सिर्फ 716 गाड़ियों पर रह गया।

वहीं टोयोटा फॉर्चूनर का उत्पादन 52 प्रतिशत गिरकर 484 से गिरकर 232 और बिक्री 424 से गिरकर 162 पर रह गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.