हाउडी मोदी’ मेगा शो की 10 प्रमुख बातें, जहां पहली बार दोनों देशों के नेता एक साथ करेंगे संबोधित

0
104

वाशिंगटन,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प संयुक्त रूप से ह्यूस्टन में रविवार को ‘हाउडी, मोदी’ रैली को संबोधित करेंगे, जिसके लिए 50,000 से अधिक भारतीय-अमेरिकियों ने रजिस्‍ट्रेशन कराया है। व्हाइट हाउस ने आधिकारिक रूप से 22 सितंबर को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के ह्यूस्टन में भारतीय प्रवासी द्वारा आयोजित ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होने की पुष्टि की है। रैली का द्विपक्षीय महत्व है क्योंकि यह हाल के इतिहास में पहली बार है कि भारत और अमेरिका के नेता एक संयुक्त रैली को संबोधित करेंगे।

आइये जानते हैं हाउदी मोदी रैली की 10 प्रमुख बातें 

व्हाइट हाउस हाउस ने कहा है कि डोनाल्‍ड ट्रम्प के रैली में जाने से अमेरिका और भारत के लोगों के बीच मजबूत संबंधों पर और मजबूती मिलेगी। इससे दुनिया के सबसे पुराने और सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच रणनीतिक साझेदारी की पुष्टि करने और अपनी ऊर्जा और व्यापार संबंधों को गहरा करने के तरीकों पर चर्चा करने का एक शानदार अवसर होगा।

 पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि ह्यूस्टन कार्यक्रम में ट्रम्प की उपस्थिति से दोनों देशों के बीच संबंधों की ताकत को उजागर किया और भारतीय प्रवासियों के योगदान की मान्यता प्रदान की है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में कहा है कि ह्यूस्टन में हाउडी रैली में हमसे जुड़ने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की विशेष मौजूदगी अमेरिकी समाज और अर्थव्यवस्था के लिए भारतीय समुदाय के योगदान के संबंध और मान्यता प्रदान करने पर प्रकाश डालता है। 

तीन सप्ताह के भीतर कार्यक्रम के लिए टिकट पहले से ही बिक चुके हैं क्योंकि ऑनलाइन पंजीकरण के दौरान 50,000 से अधिक उपस्थित लोगों ने पहले ही इस कार्यक्रम के लिए पंजीकरण करा लिया है। कार्यक्रम के आयोजक टेक्सास इंडिया फोरम ने भी मुफ्त पास के लिए वेटिंग लिस्‍ट रजिस्‍ट्रेशन को बंद कर दिया है। 

‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम 22 सितंबर को ह्यूस्टन, टेक्सास के एनआरजी स्टेडियम में सुबह 10 बजे (स्थानीय समयानुसार) आयोजित किया जाएगा।

हाउडी’  शब्द “हाउ डू यू डू?” (आप कैसे हैं?) के लिए एक शॉर्टहैंड है, जिसका इस्तेमाल आमतौर पर दक्षिण-पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका में किया जाता है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले न्यूयॉर्क में मैडिसन स्क्वायर गार्डन और सैन जोस में एसएपी सेंटर में इसी तरह की सभाओं को संबोधित कर चुके हैं।    

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.