Howdy Modi: US से पीएम मोदी का पाकिस्तान पर वार, कहा- 9/11 और 26/11 के साजिशकर्ता कहां पाये जाते हैं?

0
19

ह्यूस्टन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर पाकिस्तान पर खूब बरसे. उन्होंने कहा कि 9/11 और 26/11 आतंकी हमलों के साजिशकर्ता कहां पाये जाते है? पीएम मोदी ने ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में भारतीय मूल के लोगों से खचाखच भरे एनआरजी स्टेडियम में कहा कि ‘‘जिनसे खुद अपना देश नहीं संभलता, इन लोगों ने भारत के प्रति अपनी नफरत को अपनी राजनीति का केंद्र बना दिया है.’’

मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मौजूदगी में कहा, ‘‘ये वो लोग हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक है, आतंक को पालते पोसते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उनकी पहचान आप भी अच्छी तरह जानते हैं. अमेरिका में 9/11 हो या मुम्बई में 26/11… उसके साजिशकर्ता कहां पाये जाते है ? ’’

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘अब समय आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए. मैं यहां पर जोर देकर कहना चाहूंगा कि इस लड़ाई में राष्ट्रपति ट्रंप पूरी मजबूती के साथ आतंक के खिलाफ खड़े हुए हैं.’’

मिलेंगे ट्रंप और इमरान खान

प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में यह बात ऐसे समय में कही है जब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी संयुक्त राष्ट्र महासभा के सम्मेलन में हिस्सा लेने अमेरिका पहुंचे हैं. इमरान की भी ट्रंप से मुलाकात होने वाली हैं.

पीएम मोदी ने आगे कहा, ”मैं कहना चाहूंगा कि राष्ट्रपति ट्रंप यहां आतंक के खिलाफ मजबूती से खड़े हैं. आतंक के खिलाफ इस लड़ाई में अमेरिका और इजरायल डटकर खड़े हैं.”

इससे पहले ट्रंप ने आतंकवाद की चर्चा करते हुए कहा, ‘‘हम निर्दोष नागरिकों की कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद के खतरे से रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं.’’ ट्रंप ने यह भी कहा कि भारत और अमेरिका समझते हैं कि अपने समुदाय को सुरक्षित रखने के लिए हमें अपनी सीमाओं की रक्षा करनी होगी.

पीएम मोदी ने कश्मीर का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 का फायदा अलगवावाद ताकते उठा रही थी, अब जम्मू कश्मीर के लोगों को भी भारत के अन्य क्षेत्र के लोगों के समान अधिकार दे दिये गए हैं.

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘हम किसी दूसरे से नहीं बल्कि खुद से मुकाबला कर रहे हैं. हम अपने को बदल रहे हैं क्योंकि भारत में ‘विकास’ आज सबसे चर्चित शब्द बन गया है. धैर्य हम भारतीयों की पहचान है लेकिन अब हम विकास के लिये अधीर हैं.’’


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.