मोदी, ट्रंप न्यूयॉर्क में आज करेंगे द्विपक्षीय वार्ता

0
202

न्यूयॉर्क, ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में मंच साझा करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र से इतर मंगलवार को यहां द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने सोमवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बैठक स्थानीय समयानुसार दोपहर 12.15 बजे (भारतीय समयानुसार रात 9.45 बजे) होगी।

रवीश से जब ट्रंप के उस बयान पर प्रतिक्रिया पूछी गई कि हाउडी मोदी इवेंट में उन्होंने (ट्रंप ने) मोदी का काफी आक्रमक बयान सुना है, तो उन्होंने इस पर कोई जवाब दिए बिना कहा, “कल (मंगलवार को) प्रधानमंत्री और अमेरिकी राष्ट्रपति के बीच बैठक है, इसका इंतजार करते है।”

ट्रंप जिन्होंने यहां पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ मीडिया सम्मेलन के दौरान एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता का प्रस्ताव दिया था, उन्होंने सोमवार को कहा कि उन्होंने रविवार के कार्यक्रम में मोदी का काफी आक्रमक बयान सुना।

कश्मीर में मानवाधिकारों की स्थिति पर चिंता के प्रश्न पर ट्रंप ने कहा, “बेशक, मैं सब कुछ होते हुए देखना चाहूंगा। मैं चाहता हूं कि यह मानवीय हो। मैं चाहता हूं कि सभी से अच्छा व्यवहार हो। दो देश हैं और वे युद्धरत देश हैं और वे लड़ते रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “और मेरा मतलब है कि मैंने कल (रविवार) बहुत आक्रमक बयान सुना। मैं वहां था। मुझे नहीं पता था कि मैं वह बयान सुनने वाला हूं। लेकिन मैं वहां था और मैंने वहां भारत से, (भारत के) प्रधानमंत्री से काफी आक्रमक बयान सुना, और मैं कहूंगा कि उसे उस जगह अच्छी तरह स्वीकार किया गया। वहां 59,000 लोग इकट्ठे थे।”

उन्होंने कहा, “लेकिन वह एक आक्रमक बयान था, और मुझे उम्मीद है कि वे, भारत और पाकिस्तान, साथ आने वाले हैं, और वे कुछ ऐसा करने वाले हैं जो वास्तव में दोनों देशों के लिए अच्छा हो।”

ट्रंप और मोदी ने रविवार को ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान मंच साझा किया था, जिसमें 50,000 से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी प्रवासी शामिल हुए थे।

मोदी के अपने संबोधन में पाकिस्तान पर हमला करते हुए उसे आतंक का गढ़ बताया था। उन्होंने अमेरिका में 9/11 हमले और भारत में 2008 में हुए मुंबई हमलों के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था और कहा था कि आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.