महाराष्ट्र चुनाव: कांग्रेस का बड़ा दांव- प्राइवेट नौकरियों में स्थानीय लोगों को 75 फीसदी आरक्षण देने का वादा किया

0
135

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी ने प्राइवेट कंपनियों में 75 फीसदी नौकरियां राज्य के लोगों के लिए रिजर्व करने का दांव खेला है. इतना ही नहीं कांग्रेस ने अपनी सरकार बनने पर बेरोजगार युवाओं को 5 हजार रुपये महीना भत्ता देने का भी एलान किया. लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस के नई बड़े नेता पार्टी छोड़ चुके हैं. इन वादों के आसरे कांग्रेस की कोशिश अपनी जमीन को बचाए रखने की है.

महाराष्ट्र यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष सत्यजीत ने कहा, ”अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो प्राइवेट कंपनियों में 75 फीसदी नौकरियां राज्य के लोगों के लिए रिजर्व की जाएंगी.” बता दें कि ऐसा ही दांव आंध्र प्रदेश चुनाव से पहले जगनमोहन रेड्डी ने भी खेला था.

कांग्रेस-एनसीपी के साथ मिलकर जल्द ही विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र जारी करेगी. कांग्रेस-एनसीपी के घोषणापत्र में युवा वोटर्स को लुभाने के लिए बेरोजगारी भत्ता और नौकरियों के बड़े बड़े वादे किए जा सकते हैं. इससे पहले राज ठाकरे और शिवसेना भी प्राइवेट नौकरियों में मराठी लोगों के लिए आरक्षण की मांग करते रहे हैं.

पहले भी खेला जा चुका है ये दांव

जून में मध्यप्रदेश की सरकार कमलनाथ सरकार ने भी प्राइवेट सेक्टर में 70 फीसदी नौकरियां लोकल लोगों के लिए रिजर्व करने का एलान किया था. कांग्रेस ने महाराष्ट्र में सरकार बनने पर 6 महीने के अंदर राज्य में खाली पड़ी 2 हजार नौकरियों को भी भरने का एलान किया है. इसके अलावा बेरोजगार युवाओं को 5 हजार रुपये महीना भी दिए जाएंगे. कांग्रेस महाराष्ट्र में भी बेरोजगारी के मुद्दे को भुनाना चाहती है, क्योंकि इस मुद्दे के आसरे कांग्रेस को पिछले साल मध्य प्रदेश और राजस्थान चुनाव में कामयाबी मिली थी.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 125 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. पार्टी की तरफ से अब तक 100 से अधिक उम्मीदवारों के नाम का एलान हो चुका. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नॉमिनेशन अप्लाई करने की आखिरी तारीख 4 अक्टूबर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.