दिल्ली: गोली मारने का लाइव वीडियो दिखाकर ‘सद्दाम’ ने करोड़ों वसूले, मेरठ में मुठभेड़ के दौरान हुआ था गिरफ्तार

0
147

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और मेरठ क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट ऑपरेशन में पकड़ा गया कुख्यात इनामी बदमाश सद्दाम पूछताछ में नए नए राज उगल रहा है. मुठभेड़ के दौरान सद्दाम के दोनों पैरों में गोली लगी और वो पकड़ा गया. सद्दाम पर 50 हजार का इनाम घोषित था. इस मुठभेड़ में सद्दाम के साथ साथ दो और बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है जिनपर 25 हजार रुपए का इनाम था.

सद्दाम दिल्ली के कुख्यात बदमाश नीरज बवाना का भी शार्प शूटर रहा है उस पर पुलिस से एके-47 लूटने का भी आरोप है. दिल्ली से ही मकोका के मामले में उसपर 50 हजार का नाम घोषित था. सद्दाम कई महीने से इस केस में भी फरार चल रहा था.

पकड़े गए बदमाशों के नाम सद्दाम उर्फ गौरी (29), उस्मान (33) और दिलीप (19) है. सद्दाम दिल्ली के बिंदापुर इलाके का रहने वाला है. उस्मान और दिलीप मेरठ के ही रहने वाले हैं.

पुलिस को मुखबिर से मिली थी सूचना

मेरठ के थाना टीपी नगर के मलियाना क्षेत्र में पुलिस को सूचना मिली कि कुछ बदमाश मेरठ में छुपे हुए हैं. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल भी बदमाशों का पीछा करते मेरठ पहुंच चुकी थी. दिल्ली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि दिल्ली का 50 हजारी सद्दाम मेरठ के टीपी नगर क्षेत्र में छुपा हुआ है. तभी पुलिस को एक गाड़ी आती हुई दिखाई दी जिसे पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो गाड़ी में बैठे बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी.

सद्दाम पर हत्या, लूट धन उगाही जैसे मामले थे दर्ज

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एक उच्च पदस्थ सूत्र ने शुक्रवार को बताया, “सद्दाम शार्प शूटर है. लाखों रुपये लेकर वह किसी को भी मारने या मरवाने में भी तेज है. हत्या, लूट से ज्यादा सद्दाम का ध्यान जबरन धन उगाही पर रहता है. हरियाणा, यूपी, राजस्थान और दिल्ली में सद्दाम का नाम सुनते ही मोटे आसामियों की बात छोड़िए, अच्छे-अच्छे बदमाशों को भी पसीना आता था.”

सूत्र ने कहा, “सद्दाम एक महीने में कितने करोड़ कमा लेता था, इसका जबाब उसके अलावा किसी को नहीं पता. वजह, जबरन धन वसूली के कारोबार में वह वसूली-रकम का लेनदेन डायरेक्ट करता था.”

एक-एक कर सामने आ रहे हैं सद्दाम के सताए पीड़ित

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एक सूत्र ने बताया, “सद्दाम उर्फ गौरी और उसके दो खूंखार गुर्गों दिलीप व उस्मान की गिरफ्तारी के बाद इनसे पीड़ित कुछ लोग सामने आ रहे हैं.”

स्पेशल टीम की पूछताछ में सद्दाम ने यह भी बताया कि जरायम की दुनिया में वह आज तक इसलिए कामयाब रहा, क्योंकि उसने किसी भी साथी बदमाश पर विश्वास नहीं किया.

सद्दाम कितना खतरनाक है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पश्चिमी दिल्ली में सट्टेबाजों के एक अड्डे से उसने लाखों रुपये (करीब 80-90 लाख) वसूल लिए थे.

गोली मारने का लाइव वीडियो दिखा कर करता था काबू

शिकार को बिना गोली चलाए ही काबू करने के लिए सद्दाम एक वो वीडियो भी सामने वाले को दिखाया करता था, जिसमें वह किसी शख्स को लाइव गोली मारकर घायल करता हुआ दिखता है. वीडियो में कैद सद्दाम के उस खूनी रूप को देखकर किसी की भी रूह कांप जाना लाजिमी था.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और मेरठ पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में गुरुवार को ट्रांसपोर्ट नगर (मेरठ) में सद्दाम के दोनों पांवों में गोलियां लगीं, जबकि उसके साथी गुर्गों के एक-एक पांव में गोली लगी.

खतरनाक वारदात को अंजाम देने कि फिराक में था ये गैंग

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डिप्टी पुलिस कमिश्नर प्रमोद कुमार सिंह कुशवाहा ने बताया, “सद्दाम का इस वक्त पकड़ा जाना बेहद जरूरी था. वरना यह गैंग दिल्ली या फिर उसके आसपास के किसी भी इलाके में किसी बड़ी खतरनाक वारदात को अंजाम देने ही वाला था.”

डीसीपी कुशवाहा ने आगे कहा, “गुरुवार रात मेरठ में हुई मुठभेड़ के दौरान सद्दाम और उसके साथियों के पास से पॉइंट 32 बोर की एक ऑटोमेटिक पिस्तौल और 315 बोर की दो पिस्तौल, 7 जिंदा कारतूस, 8 कारतूसों के खोखे और एक कार जब्त की गई हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.