महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे बोले- सीएम की कुर्सी पर शिवसैनिक ही बैठेगा, ये मेरा वचन है

0
136

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के घमासान के बीच शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने ‘सामना’ के लिए एक इंटरव्यू दिया है. इस इंटरव्यू में उद्धव ठाकरे ने शिवसेना की आगामी रणनीतियों, बीजेपी के साथ गठबंधन और सीएम पद को लेकर जवाब दिए हैं. इसके अलावा उन्होंने यह वचन भी दिया है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर शिवसैनिक को ही बैठाएंगे.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि ”24 तारीख के बाद मैं दोबारा बोलूंगा. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर शिवसैनिक को बैठाकर दिखाऊंगा, ये मेरा शिवसेना प्रमुख (बालासाहेब ठाकरे) को वचन है.” उन्होंने कहा, ”आदित्य ठाकरे चुनाव लड़ रहे हैं इसका मतलब ये नहीं है कि मैंने राजनीति से संन्यास ले लिया है और खेती करने गया हूं, मैं यहीं हूं.” सीएम पद को लेकर बीजेपी की सहमति पर उन्होंने कहा, ”कोई सुने या न सुने, ये वचन मैंने किसी से पूछकर नहीं दिया. ये वचन मैंने मेरे सर्वस्व अर्थात मेरे गुरु, मेरे पिता, मेरे नेता…जो कुछ भी मैं मानता हूं, उन्हें दिया गया ये वचन है और इसे मैंने किसी की अनुमति से नहीं दिया है. किसी की अनुमति के कारण ये नहीं रुकेगा. किसी की अनुमति की जरूरत नहीं है. मतलब महाराष्ट्र को शिवसेना का मुख्यमंत्री मिलेगा.”

इस सवाल पर कि 2014 के विधानसभा चुनाव की तरह शिवसेना इस बार आक्रामक क्यों नहीं दिखाई दे रही है, उद्धव ठाकरे ने कहा, ”शिवसेना की पहचान बाघ है और वो बाघ ही रहता है. उसे केवल गर्जना और हुंकार करने की जरूरत नहीं रहती. 2014 में गठबंधन नहीं था. इस बार गठबंधन है. पिछले पांच साल से हम सत्ता में हैं बावजूद इसके हम हमेशा जनता की आवाज बने.”

लोकसभा चुनाव में अमित शाह मेरे पास आए थे- उद्धव ठाकरे

2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के साथ गठबंधन के सवाल पर शिवसेना प्रमुख ने कहा, ”लोकसभा चुनाव में हमने गठबंधन किया क्योंकि उस समय स्वयं अमित शाह मेरे पास आए थे.” ठाकरे ने कहा कि ”हालांकि, विधानसभा चुनाव में वो दृश्य दिखाई नहीं दे रहा है. अब तक अमित भाई की प्रत्यक्ष सहभागिता कम दिखाई दी है. लेकिन उनका और मेरा हमेशा संपर्क बना रहा. उस समय वो आए थे क्योंकि हमारा गठबंधन नहीं था. शिवसेना और बीजेपी समान विचारधारा की पार्टी हैं.”

बता दें कि विधानसभा की कुल 288 सीटों में शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. एनडीए के छोटे घटक जैसे आरपीआई और आरएसपी 14 सीटों पर लड़ रहे हैं जबकि 150 सीटों पर बीजेपी मैदान में हैं. राज्य में 21 अक्टूबर को वोटिंग और 24 अक्टूबर को नतीजे घोषित किए जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.