मोदी लहर में भी कांग्रेस के धनोरकर ने जीती थी चंद्रपुर सीट, अब विधानसभा चुनाव में पत्नी प्रतिभा आजमा रही हैं किस्मत

0
129

नई दिल्ली:  भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता सुरेश नारायण धनोरकर की पत्नी प्रतिभा इस बार महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में किस्मत आजमा रही हैं. वह वरोरा विधानसभा सीट से कांग्रेस की प्रत्यासी हैं. इस सीट पर प्रतिभा का मुकाबला बीजेपी नेता और राज्य के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार से होगा. इस बार विधानसभा चुनाव में देवेंद्र फडणवीस विरोधी गुट के वे अकेले ऐसे नेता हैं जिनका टिकट बच गया है.

बता दें कि मोदी लहर के वाबजूद सुरेश नारायण धनोरकर ने लोकसभा चुनाव में चमत्कार किया था. उन्होंने चंद्रपुर लोकसभा सीट बीजेपी से छीन ली. अब उनकी पत्नी को कांग्रेस ने टिकट दिया है. पत्नी भी उसी सीट से विधानसभा चुनाव लड़ रही है जिसपर पिछली बार वह खुद विधायक रहे थे.

प्रतिभा ने राजनीति में आने को लेकर कहा,” पति के लिए प्रचार करते करते मै सब सीख गई हूं.” सुरेश नारायण धनोरकर को लोग बालू भाई कह कर बुलाते हैं. वे कुनबी यानी पिछड़ी बिरादरी से आते हैं. इलाक़े में उनकी छवि डॉन की है.अब भी उन पर कई केस चल रहे हैं.

वहीं महाराष्ट्र की राजनीति में हंसराज गंगाराम अहीर जो एक बड़ा नाम है उनका और सुरेश धनोरकर की दुश्मनी जगज़ाहिर है. अब जब धनोरकर की पत्नी चुनाव लड़ रही है तो उन्होंने चंद्रपुर में डेरा डाल दिया है. मोदी सरकार में गृह राज्य मंत्री रह चुके अहीर कहते हैं परिवार को राजनीति से दूर रखना चाहिए.

सुधीर मुनगुंटीवार महाराष्ट्र के बड़े नेता

सुधीर मुनगुंटीवार महाराष्ट्र बीजेपी के बड़े नेता हैं. फडणवीस सरकार में वे वित्त, वन और योजना मंत्री रहे. 1994 से वे लगातार पॉंच बार विधायक रह चुके हैं.. छठी बार वे चुनावी मैदान में हैं, लेकिन इस बार मन छोटा है. आख़िर उनके
कई साथी चुनाव जो नहीं लड़ रहे हैं.एक दौर था जब सुधीर मुनगुंटीवार सीएम देवेन्द्र फडणवीस से बड़े नेता हुआ करते थे. पिछली बार वे मुख्य मंत्री बनने की रेस में भी थे, लेकिन वक़्त और हालात बदल चुके हैं. बता दें कि चंद्रपुर में विधानसभा की छह सीटें हैं. पिछले चुनाव में बीजेपी को चार, कांग्रेस और शिवसेना को एक एक सीट मिली थी. इस बार यहां से शरद पवार की पार्टी एनसीपी चुनाव नहीं लड़ रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.