डीबी ओरिजिनल / अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए सरकार को आयकर दरें कम करनी होंगी: आदि गोदरेज

0
81

मुंबई. गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि गोदरेज अपनी राय खुलकर रखने के लिए जाने जाते हैं। 122 वर्ष पुराना गोदरेज समूह एफएमसीजी, कंज्यूमर ड्यूरेबल, रियल एस्टेट, इंफ्रास्ट्रक्चर सहित 14 क्षेत्रों में कार्य करता है। देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति, त्योहारी सीजन से उम्मीदें और समूह की कार्ययोजना के बारे में मुंबई के विक्रोली में गोदरेज समूह के मुख्यालय पर भास्कर केडिप्टी एडिटर धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया ने 77 साल के आदि गोदरेज से विशेष बातचीत की। पेश है उसके संपादित अंश…

सवाल- आप त्योहारी सीजन पर अर्थव्यवस्था को किस नजरिए से देख रहे हैं?
जवाब- त्योहारी सीजन बहुत अच्छा जाएगा। इसी त्योहारी सीजन से अर्थव्यवस्था में सुधार दिखना शुरू हो जाएगा। इकोनाॅमी में टर्नअराउंड आएगा। मुझे लगता है कि पहली छमाही की तुलना में दूसरी छमाही अच्छी रहेगी। सरकार ज्यादा सुधार करेगी तो अर्थव्यवस्था में ज्यादा सुधार देखने को मिलेगा। सरकार ने अभी तक अच्छे उपाय किए हैं, लेकिन अभी और गुंजाइश है।

सवाल- इकोनॉमी में सुस्ती का विभिन्न क्षेत्रों पर क्या असर पड़ा है? 
जवाब- सामान्य तौर पर अर्थव्यवस्था के विकास की रफ्तार धीमी है। पिछली तिमाही के नतीजे में ही जीडीपी ग्रोथ 5% रही है। आशा करते हैं कि सरकार जल्द विशेष कदम उठाएगी, जिससे अर्थव्यवस्था में तेजी आए। चूंकि अर्थव्यवस्था धीमी है तो उसके असर से गोदरेज समूह भी अछूता नहीं रह सकता। आनुपातिक असर पड़ा है।  

सवाल- र्थव्यवस्था और बेहतर हो इसके लिए सरकार और क्या कदम उठाए ?
जवाब- सरकार ने हाल ही में कॉरपोरेट टैक्स कम किया है, यह बहुत अच्छा कदम था। ऐसे ही अर्थव्यवस्था में सुधार वाले कदम सरकार को और उठाने चाहिए। हर सेक्टर के हिसाब से सरकार को आवश्यक कदम उठाना चाहिए। मैं अभी विस्तार से सिफारिश नहीं कर सकता हूं। लेकिन सरकार को व्यक्तिगत आयकर कम करना चाहिए। समय-समय पर सरकार से इंडस्ट्री विशेष के प्रतिनिधि मिलते रहते हैं, ऐसे में सरकार को इंडस्ट्री की सिफारिशों के हिसाब से उन पर विचार कर कदम उठाना चाहिए। वैसे वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी समस्या आई है। अमेरिका-चीन में भी व्यापारिक समस्या चल रही है।

सवाल- अगर सरकार व्यक्तिगत आयकर में कटौती करती है तो घटे रेवेन्यू की भरपाई कैसे होगी?
जवाब- कर कटौती से टैक्स कलेक्शन कम नहीं होगा बल्कि बढ़ेगा। अर्थव्यवस्था अच्छी तरह चले तो टैक्स कलेक्शन बढ़ेगा। जीएसटी कलेक्शन इसीलिए कम हो रहा है, क्योंकि इकोनाॅमी अच्छी तरह नहीं चल रही है। टैक्स जितना कम होगा, उतना कर कलेक्शन बढ़ेगा और अर्थव्यवस्था बढ़ेगी। सोशलिस्ट समय में आयकर की दर 90% थी तो देश की ग्रोथ 3% थी।

सवाल- गोदरेज समूह की किस नए क्षेत्र में प्रवेश की योजना है?
जवाब- नए क्षेत्र का हम पहले से प्लान नहीं करते हैं। जैसे-जैसे अवसर आते हैं, उसके अनुसार योजना बनती है। चालू वित्तीय वर्ष के दौरान हम हाउसिंग फाइनेंस में जाएंगे। जो सभी तरह के हाउसिंग  प्रोजेक्ट्स को फाइनेंस के लिए होगा।   

सवाल- भारत पेट्रोलियम, एअर इंडिया और कई कंपनियों के विनिवेश की बात कही जा रही है, सरकार की इन संभावित योजनाओं को आप कैसे देखते हैं?
जवाब- सरकार का यह बहुत अच्छा कदम होगा। सरकार को क्यों बिजनेस में होना चाहिए? जब राष्ट्रीयकरण हुआ वह गलत था। अब निजीकरण का सोचा जा रहा है वह सही है। काफी निजीकरण करना चाहिए। विनिवेश से कंपनियां बेहतर चलती हैं। कई कंपनियों का विनिवेश किया गया है। वे कंपनियां अच्छी चल रही हैं। एअर इंडिया दुनिया की अच्छी एयरलाइंस थी। उसे नेशनलाइज्ड कर दिया गया। उसके बाद एअर इंडिया अच्छी नहीं चली। सरकारीकरण से काफी नुकसान हुआ है। यह कम होगा तो बजट भी अच्छी तरह चलेगा। सरकार को राजस्व भी अधिक मिलेगा।   

सवाल- रिजर्व बैंक और वर्ल्ड बैंक जैसी वैश्विक संस्थाओं ने भारत की चालू वित्त वर्ष के विकास दर के अनुमान में कटौती की है। आपके हिसाब से विकास दर कितनी रह सकती है?
जवाब- मैं अर्थशास्त्री नहीं हूं। मैं इसका पूर्वानुमान नहीं लगा सकता। लेकिन यह जरूर है कि पहले जो आशा थी, उससे जीडीपी ग्रोथ कम रहेगी। सरकार अच्छी पॉलिसी लाएगी, तो अर्थव्यवस्था और बेहतर होगी।

सवाल- क्या त्याेहारी मौके पर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ग्रुप ने कोई खास रणनीति तैयार की है?
जवाब- त्योहारी सीजन निश्चित तौर पर कंपनियों के लिए अवसर लेकर आता है। हमारी हर कंपनी और ब्रांड के मैनेजर्स ने प्रोडक्ट के हिसाब से ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न योजनाएं तैयार की हैं। वे उस पर चल रहे हैं। प्रमोशन स्कीम्स तैयार हुई हैं। उससे ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.