मुझे अपने सिवाय कुछ और साबित करने की जरूरत नहीं : जेजे

0
73

नई दिल्ली, स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुवा भारतीय फुटबाल में एक बड़ा नाम हैं। वह हालांकि अभी सर्जरी के बाद रीहैब पर हैं और इस कारण देश और क्लब टीमों से दूर हैं। हीरो इंडियन सुपर लीग क्लब चेन्नइयन एफसी के लिए सबसे अधिक मैच खेलने वाले इस खिलाड़ी के घुटने की सर्जरी के बाद जल्द ही फिर से मैदान पर लौटने की उम्मीद है। बीते सीजन में हीरो इंडियन सुपर लीग में जेजे का सफर असमय ही समाप्त हो गया था। ऐसे में वह वापसी के लिए कितने बेताब हैं। इसे लेकर जेजे ने कहा, “बीते तीन या चार सालों में मैंने घुटने से जुड़ी तमाम समस्याओं के बावजूद मैदान पर अपनी भूमिका के साथ न्याय किया है। इस दौरान मैंने अपनी टीम के लिए सबकुछ किया। अब सर्जरी के बाद मैं वापसी के लिए बेताब हूं। मैं अपने साथियों को देखने के लिए रोमांचित हूं और जल्द से जल्द अपने प्रशंसकों के सामने खेलना चाहता हूं।”

क्या आपको इस सीजन में कुछ साबित करना है? इस सवाल पर जेजे ने कहा, “नहीं। मुझे अपने सिवाय और कुछ साबित करने की जरूरत नहीं। अभी यही मेरा टारगेट है। एक खिलाड़ी के तौर पर सर्जरी के बाद मैदान में सफल वापसी काफी कठिन होती है लेकिन मैं इसके लिए काफी मेहनत करूंगा और आत्मविश्वास जगाने के लिए अपना श्रेष्ठ दूंगा। “

जेजे ने माना कि बाहर बैठकर भारतीय टीम को खेलते देखना काफी मुश्किल काम है लेकिन वह चोट के कारण ऐसा करने पर मजबूर हैं। जेजे ने कहा, “यह काफी मुश्किल है। मैं अपनी टीम के मैच देख रहा हूं। मैं इतना जरूर कह सकता हूं कि हमारी टीम नए कोच की देखरेख में काफी अच्छा खेल रही है। मैं राष्ट्रीय जर्सी को मिस कर रहा हूं। टेलीविजन पर मैच देखने से वापसी की प्रेरणा मिलती है। मैं बता नहीं सकता कि मैं अपने देश के लिए फिर से खेलने के लिए कितना बेताब हूं।”

नए मुख्य कोच स्टीमाक के बारे में अपने विचार रखते हुए जेजे ने कहा, “खिलाड़ियों ने उनकी शैली को जल्द ही आत्मसात कर लिया। हमारे साथियों ने अच्छी फुटबाल खेली है और मुझे आशा है कि 2022 विश्व कप अभियान में वे अच्छा करेंगे। स्टीमाक का प्लेइंग स्टाइल वाकई अच्छा है। कतर के खिलाफ हमने खासतौर पर अच्छा किया। वह हाल के दिनों में हमारी टीम का सबसे अच्छा प्रदर्शन था। मुझे आशा है कि यह सब जारी रहेगा।”

जेजे से जब यह पूछा गया कि आप अपनी राष्ट्रीय जर्सी में कब वापस लौट रहे हैं, तो उन्होंने कहा, “पहले मेरा लक्ष्य आईएसएल खेलना है। मैं पूरी तरह फिट होकर अपनी टीम के लिए श्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहता हूं। मैं राष्ट्रीय टीम में भी वापसी चाहता हूं लेकिन फिलहाल मैं आईएसएल पर ध्यान लगाना चाहता हूं। मुझे उम्मीद है कि यहां अच्छा खेलते हुए मैं टीम में वापसी करने में सफल रहूंगा।”

जेजे को सुनील छेत्री का स्वाभाविक उत्तराधिकारी माना जाता है। जब वे संन्यास लेंगे तो कप्तानी की जिम्मेदारी सम्भवत: जेजे पर ही आएगी। इस सम्भावना और सुनील के बारे में अपनी राय पर जेजे ने कहा, “सुनील भारतीय टीम के काफी अहम सदस्य हैं। वह हमारे स्तम्भ हैं। अभी, वह शानदार खेल रहे हैं और आशा है कि आने वाले कुछ समय तक ऐसा ही खेलते रहेंगे। लेकिन एक दिन जरूर आएगा, जब हम उन्हें मिस करेंगे।”

जेजे ने कहा कि अभी भारतीय टीम के साथ कई युवा खिलाड़ी जुड़ रहे हैं और अच्छा कर रहे हैं। टीम में प्रतिस्पर्धा बढ़ी है लेकिन इस सबके बावजूद अभी सुनील छेत्री टीम के सबसे बड़े स्टार और प्रेरणास्रोत हैं। 

बकौल जेजे, ” अभी, हमारे साथ कई युवा आ रहे हैं और अच्छा कर रहे हैं। अपना स्थान बनाए रखने के लिए हर किसी को काफी मेहनत करनी पड़ रही है। यह सोचना काफी मुश्किल है कि वह संन्यास ले लेंगे। अगर वह जाते हैं तो फिर हम कुछ नहीं कर सकते। हमें चुनौती को स्वीकार करना होगा लेकिन सुनील ने टीम के लिए अब तक जो कुछ किया है, उसकी बराबरी मुश्किल है। वह हमारे लिए सबकुछ हैं।” 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.