चीन पर निगरानी बढ़ाने के लिए हेलीकॉप्टर्स के साथ साथ आईटीबीपी के जवानों को दी जा रही है भाषा की खास ट्रेनिंग

0
17

नई दिल्ली: भारत चीन सीमा पर गहरी निगरानी रखने के लिए केंद्र सरकार आइटीबीपी को दो हेलीकॉप्टर लीज पर दिलाने जा रही है साथ ही आईटीबीपी के जवानों को चाइनीज भाषा की विशेष ट्रेनिंग भी दिलाई जा रही है जिससे वह आमने-सामने होने पर चीनी सेना की भाषा को समझ सके. इस बात की जानकारी आज केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने भारत तिब्बत सीमा पुलिस के 58 स्थापना दिवस के अवसर पर दी.

श्री रेड्डी ने कहा कि भारत तिब्बत सीमा पुलिस प्रत्येक विपरीत परिस्थितियों में भी बैठकर काम करती है यही कारण है कि बल ने इस साल का अपना पूरा बजट खर्च किया उन्होंने बताया किआईटीबीपी को दो हेलीकाप्टर लीज़ पर लेने की प्रक्रिया अंतिम चरणों में है और जल्दी ही ये उपलब्ध हो जायेंगे.

गृह मंत्रालय ने आईटीबीपी को 2 एन डी आर एफ की बटालियन प्रदान की है जिसमें से एक हिमाचल प्रदेश और एक उत्तराखंड में तैनात की जा रही है चाइनीज़ भाषा को सीखने के लिए आईटीबीपी के जवानों को विशेष ट्रेनिंग दिलवाई जा रही है. माना जा रहा है कि भाषा की ट्रेनिंग दिलाने के पीछे सरकार का मकसद यही है कि आईटीबीपी के जवान भारत चीन सीमा पर दोनों सेनाओं के आमने-सामने होने पर उनकी भाषा को सही तरह से समझ सके और उनका जवाब दे सके डीजी आइटीबीपी इस बात को मान चुके हैं कि जब दोनों देशों की सेना लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के इलाके में पेट्रोलिंग करती है तो अनेकों बार आमने-सामने हो जाती है.

डीजी आइटीबीपी एसएस देसवाल ने इस अवसर पर बताया कि गृह मंत्रालय ने आइटीबीपी के कैडर रिव्यू को मंजूरी दी है इसमें एडीजी के दो पद आई जी के 12 पद डीआईजी के 21 पद कमांडेंट के 37 पद 2ic सी के 67 67 पद डिप्टी कमांडेंट के 87 पद और असिस्टेंट कमांडेंट के 127 पदों समेत इंस्पेक्टरों के 196 पद सब इंस्पेक्टरों के 135 पदों और एएसआई के 1618 समेत हवलदार के 736 पदों यानी कुल 3039 आईटीबीपी के जवानों और अधिकारियों के प्रमोशन का मार्ग खुल गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.