बिहार उपचुनाव: सेमीफाइनल में नीतीश की पार्टी को तगड़ा झटका, बीजेपी के हाथ भी खाली

0
18

नई दिल्ली: बिहार में हुए उपचुनाव को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल के तौर पर देखा जा रहा था. ये सेमीफाइनलबीजेपी और जेडीयू के लिए ठीक नहीं रहा. राज्य की पांच विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे. खबर लिखे जाने तक एक सीट पर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने जीत दर्ज कर ली. वहीं आरजेडी ने दो सीटों पर जीत दर्ज कर ली.

इसके साथ ही एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार आगे चल रहे हैं और वहीं एक सीट पर आरजेडी और जेडीयू उम्मीदवार के बीच कांटे की टक्कर है. बीजेपी के हाथ कुछ नहीं आया. पांच विधासभा सीटों के अलावा समस्तीपुर लोकसबा सीट पर भी उपचुनाव हुए थे. इस सीट पर एलजेपी उम्मीदवार प्रिंस राज ने 390276 वोटों के साथ जीत दर्ज कर ली है. दूसरे नंबर पर कांग्रेस के अशोक कुमार रहे जिन्हें 288186 वोट मिले.

किशनगंज विधानसभा सीट पर बीजेपी प्रत्याशी स्वीटी सिंह को एआईएमआईएम के कमरुल होडा ने हरा दिया है. कमरुल होडा को कुल 70469 वोट मिले. स्वीटी सिंह को 60265 वोट मिले और वह दूसरे नंबर पर रहीं. वहीं सिमरी बख्तियारपुर सीट पर आरजेडी के जफर आलम ने जीत दर्ज की. उन्हें 71441 वोट मिले. इस सीट पर दूसरे नंबर जेडीयू के डॉ अरुण कुमार रहे. उन्हें 55936 वोट मिले. इसके अलावा बेलहर सीट पर आरजेडी के रामदेव यादव ने जीत दर्ज की. उन्हें 76350 वोट मिले. इस सीट पर दूसरे नंबर पर जेडीयू के लालधारी यादव रहे. उन्हें 57119 वोट मिले.

दरौंदा विधानसभा सीट पर निर्दलीय उम्मीदर व्यास सिंह काफी आगे चल रहे हैं और उनके जीत की संभावना प्रबल है. वहीं नाथनगर विधानसभा सीट पर आरेजडी की उम्मीदवार राबिया खातून और जेडीयू के उम्मीदवार लक्ष्मीकांत मंडल में कांटे की टक्कर है. बता दें कि जिन पाचं विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए हैं, उनमें साल 2015 के विधानसभा चुनाव में चार सीटों पर जेडीयू ने जीत दर्ज की थी. एक सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.