खेल के मैदान के साथ-साथ रुपहले पर्दे भी चमकी हैं कई हस्तियां

0
17

नई दिल्ली, हॉलीवुड के सुपरस्टार अर्नाल्ड श्वार्जनेगर के अपनी आगामी फिल्म के प्रोमोश्न के लिए हाल ही में भारत आने की चर्चा थी। अर्नाल्ड ने हालांकि इन खबरों का खंडन किया। इसे लेकर उनके फिल्मी प्रशंसकों के साथ-साथ उन खेल प्रेमियों में भी जबरदस्त उत्साह था, जो उन्हें एक खिलाड़ी के तौर पर अधिक पसंद करते हैं। 

अर्नाल्ड एक सफल बॉडीबिल्डर रहे हैं और कई इंटरनेशनल खिताब जीते हैं। वह खेलों से संन्यास लेने के बाद फिल्मों और फिर राजनीति में आए और हर जगह अपना परचम लहराया। अर्नाल्ड की तरह कई ऐसी खेल हस्तियां हुई हैं, जिन्होंने रुपहले पर्दे पर अपनी किस्मत आजमाई है। कुछ सफल हुए हैं तो कुछ को नाकामी हाथ लगी है।

सबसे पहले बात श्वार्जनेगर की करते हैं। श्वार्जनेगर ने केवल 15 वर्ष की उम्र में ही बॉडीबिल्डिंग शुरू कर दी थी और 20 साल के उम्र में मिस्टर यूनिवर्स का खिताब जीता था। इस क्षेत्र में उन्होंने सबसे बड़ी ऊंचाई को तब छुआ जब उन्होंने सबसे बड़ी पेशेवर बॉडीबिल्डिंग प्रतियोगिता मिस्टर ओलम्पिया का खिताब जीता।

वर्ष 1982 में आई फिल्म ‘कोनन द बार्बेरियन’ के जरिए हॉलीवुड ने भी श्वार्जनेगर को अपना लिया। वह बहुत बड़े एक्शन हीरो साबित हुए और जेम्स कैमरून द्वारा निर्देशित ‘द टर्मीनेटर’ ने उन्हें नई ऊंचाईयों पर पहुंचा दिया। फिल्मों के अलावा, उन्होंने राजनीति में भी किस्मत आजमाई और कैलिफोनिर्या के 38वें राज्यपाल भी रहे। 

श्वार्जनेगर की तहर मशहूर अमेरिकी मुक्केबाज माइक टाइसन भी फिल्मों में अपनी किस्मत आजमाने से अपने आप को रोक नहीं पाए। अपने करियर में आक्रामक मुक्केबाजी के लिए जाने-जाने वाले टाइसन खेल से संन्यास लेने के बाद फिल्मों में कदम रखा। 

विवादों से घिरे रहने वाले टाइसन ने अपने लंबे करियर में 58 में से 50 मैच जीते। वह पर्दे पर 2009 में फिल्म ‘द हैंगओवर’ में दिखे। ब्रैडली कूपर जैसे स्टार के होने के बावजूद फिल्म में टाइसन के रोल को बहुत पसंद किया गया। फिल्म हिट रही, लेकिन टाइसन इसके बाद, पर्दे पर ज्यादा नहीं दिखे। 

फिल्मों में दिखने वाले खिलाड़ियों में अगला नाम अमेरिका के ही सुपरस्टार बास्केबॉल खिलाड़ी माइकल जॉर्डन का है। अमेरिका के लिए ओलम्पिक में स्वर्ण जीतने और एनबीए के माहन खिलाड़ियों में गिने जाने वाले जॉर्डन भी फिल्मों से दूर नहीं रह पाए। 

जॉर्डन ने बास्केटबॉल के अलावा, अपने करियर में बेसबॉल खेली और फिल्मों में भी काम किया। हालांकि, बेसबॉल एवं फिल्मों में उनका करियर लंबा नहीं रहा। उन्होंने 1996 में बास्केटबॉल पर आधारित फिल्म ‘स्पेस जैम’ में काम किया था। 

शकली ओ नील, करीम अब्दुल जब्बार और डेनिस रोडमन भी ऐसे बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं जिन्होंने फिल्मों में काम किया। 

अमेरिकी महिला एमएमए खिलाड़ी रॉन्डा राउसी भी खेल से अलग होने के बाद फिल्मों में दिखी। दुनियाभर में अपनी आक्रामकता के लिए प्रसिद्ध राउसी ने 2010 में अपना करियर शुरू किया था। इसके बाद, उन्होंने फिल्म जगह में कदम रखा और 2015 में ‘फ्यूरियस’ नामक फिल्म में दिखी। इसके अलावा, उन्होंने ‘द एक्पेंडेबल 3’ में भी काम किया है। 

इंग्लैंड के खिलाड़ी भी फिल्मों में काम करने के मामले में पीछे नहीं हैं। लुइस हैमिल्टन अभी दुनिया के शीर्ष फॉर्मूला-वन चालक हैं, लेकिन वह भी खुद को फिल्मों से ज्यादा दूर नहीं रख पाए। हैमिल्टन 2017 में आई फिल्म ‘कार्स-3’ में दिखे। 

भारतीय खिलाड़ियों की बात करें तो इसमें सबसे बड़ा नाम पहलवान दारा सिंह और पूर्व भारतीय बल्लेबाज अजय जडेजा का है। 

दारा सिंह अपने जमाने के मशहूर पहलवान रहे। रेसलिंग ओबसरवर न्यूजलेटर हॉल ऑफ फेम में शामिल दारा सिंह ने 100 से अधिक फिल्मों में काम किया। हालांकि, उन्होंने अपने करियर का सबसे यादगार रोल छोटे पर्दे पर प्रसारित होने वाले लोकप्रीय रामायण में हनुमान का निभाया। 

बड़े पर्दे की बात करें तो वह जब वी मेट और कल हो न हो जैसी बड़ी फिल्मों में दिखे। 

2000 में लगे बैन ने जडेजा के क्रिकेटिग करियर पर बड़ा प्रभाव डाला। अपने समय के शीर्ष बल्लेबाजों में गिने जोन वाले जडेजा ने 2009 में फिल्म ‘पल पल दिल के साथ’ में काम किया। इससे पहले, वह 2003 में आई सनी देयोल की फिल्म ‘खेल’ में भी दिखे थे। उन्होंने फिल्म में देयोल के भाई का किरदार निभाया था। दोनों ही फिल्में बॉक्सऑफिस पर बुरी तरह से पिटी और जडेजा का फिल्मी करियर भी समप्त हो गया। 

इन दोनों के अलावा, सुनील गावस्कर, कपिल देव, लिएंडर पेस और सलिल अंकोला भी फिल्मों में काम कर चुके हैं।

दुनिया के महान बल्लेबाजों में गिने जाने वाले गावस्कर ने सबसे पहले 1980 में आई मराठी फिल्म ‘सविल प्रेमाची’ में काम किया। उन्होंने 1988 में नासिरुद्दीन शाह की फिल्म मालामाल में ही एक गेस्ट रोल किया। इस फिल्म में गावस्कर ने एक क्रिकेट मैच भी खेला। 

वह एक्टिंग के अलावा गीत भी गा चुके हैं। उन्होंने ‘ये दुनियामाधे थामबायाला वेल कोनाला’ नामक मराठी गीत गाया है। 

दूसरी ओर, कपिल कई फिल्मों में हमेशा कुछ मिनट का स्पेशल अपियरेंस देते ही दिखे हैं। वह क्रिकेट पर आधारित फिल्म इकबाल, मुझसे शादी करोगी और स्टम्प्ड में काम कर चुके हैं। 

भारत को 1996 में हुए अटलांटा ओलम्पिक में कांस्य पदक दिलाने वाले टेनिस स्टार लिएंडर पेस ने 2013 में एक फिल्म की। उन्होंने राजधानी एक्सप्रेस नामक फिल्म में एक महत्वपूर्ण रोल निभाया। हालांकि, फिल्म पर्दे पर कुछ खास कमाल नहीं कर पाई। अंकोला ने 2000 में आई संजय दत्त की फिल्म कुरुक्षेत्र में दिखे। इसके अलावा, उन्होंने कई टीवी सीरियल्स में भी काम किया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.