गोपाल कांडा के खिलाफ बीजेपी में ही उठी आवाज, उमा भारती ने कहा- पार्टी नैतिकता ना भूले

0
18

नई दिल्ली: हरियाणा विधानसभा चुनाव में किसी भी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है. बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. उसे सरकार बनाने के लिए छह विधायकों की दरकार है. विवादित चेहरा रहे हरियाणा लोकहित पार्टी के नेता और सिरसा से विधायक गोपाल कांडा ने बीजेपी को समर्थन देने का एलान किया है. अब इसी को लेकर पार्टी में राय बंट गई है.

वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने गोपाल कांडा का समर्थन नहीं लेने की अपील की. उन्होंने कहा कि बीजेपी नैतिकता नहीं भूले. उमा भारती ने एक के बाद एक आठ ट्वीट किए-

उन्होंने कहा, ”माननीय नरेंद्र मोदी जी का, अमित शाह जी का, जेपी नड्डा जी का, एमएल खट्टर जी का और देवेंद्र फडणवीस जी का महाराष्ट्र एवं हरियाणा के शानदार जीत के लिए अभिनंदन. जब तक मोदी जी की लहर नहीं आई थी, हम हरियाणा में दो विधानसभा सीटें जीतने पर भी खुश हो जाते थे. इसलिए हरियाणा में पहले चुनाव में सरकार बना लेना और दूसरे चुनाव में भी सबसे बड़ी पार्टी बनकर आना असाधारण उपलब्धि है. यह सब नरेंद्र मोदी जी के तपस्या का परिणाम है.”

उमा भारती ने कहा, ”मैं अभी अपने गंगा प्रवास पर हिमालय में गंगा के किनारे हूं. यहां टीवी नहीं है, मैं मोबाइल पर सारी ख़बरें ले रही हूं, मुझे जानकारी मिली है कि हम हरियाणा में भी सरकार बना सकते हैं. यह एक अच्छी ख़बर है. मुझे जानकारी मिली है कि गोपाल कांडा नाम के एक निर्दलीय विधायक का समर्थन भी हमें मिल सकता है. इसी पर मुझे कुछ कहना है.”

उन्होंने कहा, ”अगर गोपाल कांडा वही व्यक्ति है जिसकी वजह से एक लड़की ने आत्महत्या की थी तथा उसकी माँ ने भी न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या कर ली थी, मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है, तथा यह व्यक्ति ज़मानत पर बाहर है. गोपाल कांडा बेक़सूर है या अपराधी, यह तो क़ानून साक्ष्यों के आधार पर तय करेगा, किंतु उसका चुनाव जीतना उसे अपराधों से बरी नहीं करता. चुनाव जीतने के बहुत सारे फैक्टर होते हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.