जम्मू-कश्मीर: शोपिया में आतंकियों ने दो ट्रक चालकों की हत्या की, 11 दिनों के अंदर अबतक 5 लोगों का मर्डर

0
13

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में आतंकी अब आम लोगों को अपना निशाना बना रहे हैं. कल शोपियां में सेब लाने गए दो कश्मीरी ट्रक चालकों की आतंकवादियों ने हत्या कर दी. दक्षिण कश्मीर में पिछले 11 दिनों में आम लोगों को निशाना बनाए जाने की यह पांचवी घटना है. 14 अक्टूबर को भी आतंकियों ने एक ट्रक चालक की हत्या कर दी थी. इसके बाद एक सेब कारोबारी और एक मजदूर की भी हत्या कर दी गई.

ट्रक चालक ने सुरक्षा बलों को नहीं दी थी अंदरुनी हिस्सों में जाने की जानकारी

अधिकारियों का कहना है कि ट्रक चालक बिना सुरक्षा बलों को जानकारी दिए हुए अंदरुनी हिस्सों में गए थे. यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. उन्होंने बताया कि दो ट्रक चालकों के शवों को बरामद कर लिया गया है जबकि एक घायल ट्रक चालक को श्रीनगर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

आतंकवादियों ने ट्रकों पर की थी गोलीबारी

पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बताया कि शाम को शोपियां के चित्रगाम में आतंकवादियों ने ट्रकों पर गोलीबारी की जिसमें तीन चालक घायल हो गए. उन्होंने बताया कि आतंकवादियों ने हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में पंजीकृत ट्रकों को रोका और उन पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी. इससे बचने के लिए ट्रक चालकों ने भागने की नाकाम कोशिश की. आतंकवादियों ने दो ट्रकों को भी आग के हवाले कर दिया.

 घेराबंदी कर दोषियों को पकड़ने की कोशिश कर रही है पुलिस

दिलबाग सिंह ने बताया कि एक मृतक ट्रक चालक की पहचान राजस्थान के अलवर निवासी मोहम्मद इलियास के तौर पर की गई है. घायल चालक का नाम जीवन है जो पंजाब के होशियारपुर का रहने वाला है. तीसरे व्यक्ति की पहचान की जा रही है. अधिकारियों ने कहा कि पुलिस इलाके की घेराबंदी कर दोषियों को पकड़ने की कोशिश कर रही है.

गौरतलब है कि 14 अक्टूबर को दो आतंकवादियों ने शोपियां में राजस्थान के पंजीकरण वाले ट्रक के चालक की गोली मारकर हत्या कर दी थी. उन्होंने सेब कारोबारी से मारपीट भी की थी. मृतक चालक की पहचान शरीफ खान के रूप में की गई थी जबकि दोनों आतंकवादियों में एक के पाकिस्तानी नागरिक होने का शक है. इस घटना के बाद शोपियां में ही आतंकवादियों ने पंजाब निवासी सेब कारोबारी चरणजीत सिंह की हत्या कर दी थी. इस हमले में संजीव नामक शख्स घायल हो गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.