जूते की दुकान से शुरुआत करने वाले आठवीं पास कांडा ने कैसे खड़ा किया अपना साम्राज्य?

0
27

नई दिल्ली: हरियाणा में चुनावी नतीजों के सामने आने के बाद एक नाम बहुत ज्यादा चर्चा में है और ये नाम पूर्व गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा का है. कांडा के बीजेपी को समर्थन की खबरें मीडिया में आते ही विवाद शुरू हो गया है. विरोधियों से लेकर मीडिया तक बीजेपी कांडा के काले इतिहास की याद दिलाने लगे. इस सब बीच सूत्रों से खबर निकल कर आई कि कांडा को सरकार में जगह नहीं दी जाएगी. कांडा को लेकर लगी आग बुझने का नाम ही नहीं ले रही है. हरियाणा चुनाव की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी को विवादों डालने वाले कांडा का इतिहास भी कम विवादित नहीं है.

आठवीं तक पढे हैं कांडा, 15 साल की उम्र में थी जूते की दुकान
गीतिका शर्मा आत्महत्या मामले में फंसे हरियाणा के पूर्व गृह राज्यमंत्री गोपाल कांडा आठवीं क्लास तक पढ़े हुए हैं. 15 साल की उम्र में कांडा ने जूते की एक छोटी सी दुकान खोल ली. इसके बाद रीयल एस्टेट से लेकर आईटी और फिर एमडीएलआर एयरलाइंस के जरिये कांडा ने कामयाबी की ऐसी उड़ान भरी कि वह हरियाणा के सबसे कामयाब कारोबारियों में शामिल हो गए. लेकिन कहते हैं कि ताकत का नशा, जब हद से आगे बढ़ जाए, तो बहकते कदम उल्टी गिनती शुरू कर देते हैं. ऐसा ही कुछ गोपाल कांडा के साथ भी हुआ.

महलनुमा घर में है हेलीपैड, करीब 100 करोड़ है कीमत
गोपाल कांडा की सियासत ही नहीं, उसकी दौलत भी चौंकाने वाली है. कभी जूते की छोटी सी दुकान चलाने वाले कांडा के पास आज की तारीख में ऐसा किलानुमा महल है, जिसकी कीमत 100 करोड़ के आसपास है. सिरसा−अलेनाबाद हाइवे पर ढाई एकड़ में फैला महलनुमा घर प्रतीक है हरियाणा में गोपाल कांडा की हैसियत का घर की चारदीवारी के भीतर हैलीपैड बना है. कांडा की राजनीतिक पहुंचका अंदाजा भी इस बात से लगाया जा सकता है कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा भी यहां कई बार आ चुके हैं. कांडा के महल की चारदीवारी ग्रीन बेल्ट में पड़ती है लेकिन टाउन एंड कंट्री प्लानिंग महकमे का नोटिस भी इसकी एक ईंट तक नहीं हिला पाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.