अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार के मिल रहे हैं संकेत, अगली दिवाली तक ये स्‍टॉक कर सकते हैं मालामाल

0
151

नई दिल्‍ली,  पिछली कुछ तिमाहियों में आर्थिक विकास की दर धीमी रही है, लेकिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन द्वारा कॉरपोरेट टैक्‍स में महत्वपूर्ण रूप से की गई कटौती सहित कुछ बड़े आर्थिक सुधारों के चलते पिछले कुछ हफ्तों से बदलाव के संकेत मिलने शुरू हो गए हैं। लगभग एक महीना पहले दुर्गापूजा के साथ त्योहारों के जिस मौसम की शुरुआत हुई उसका सिलसिला दिवाली से होते हुए लगभग क्रिसमस तक चलने वाला है। ऐसे में उपभोक्ताओं से बेहतर प्रतिक्रिया मिलने की उम्मीद है।

ई-कॉमर्स क्षेत्र की चंद दिग्गज कंपनियों जैसे फ्लिपकार्ट, अमेजन और कुछ ब्रिक-एंड-मोर्टार कंज्यूमर ड्यूरेबल्स व एफएमसीजी ब्रांड्स द्वारा दर्ज की गई शानदार बिक्री ने ग्राहकों के इस उत्साह को रेखांकित किया है। हमारे स्वयं के अध्ययन से एफएमसीजी व कंज्यूमर ड्यूरेबल्स जगत में प्रमोशनल गतिविधि में वृद्धि का संकेत मिलता है।

हमारा मानना है कि कुछ ही समय में इसका संपूर्ण अर्थव्यवस्था पर प्रभाव रहा और इक्विटी बाजार भी इससे अछूता नहीं रह पायेगा। वित्त मंत्री द्वारा कॉरपोरेट टैक्‍स में कटौती की घोषणा किये जाने के तुरंत बाद ही बाजारों में अल्पकालिक तौर पर उछाल देखने को मिला है। इसके बाद बाजार में चुनिंदा रूप में खरीदारी हुई है और कुछ हद तक बड़ी धन राशि के निवेश को लेकर अरूचि भी रही है।

लेकिन, हम मानते हैं कि दीर्घकालिक संपत्ति निर्माण हेतु नीचे दिए गए अच्छी गुणवत्ता वाले स्टॉक्स में निवेश के लिए यह एक सर्वोत्तम समय हो सकता है। बाजार में वर्तमान समय में आई उछाल मशहूर ब्लूचिप कंपनियों के चलते है। अधिकांश छोटी व मझोली पूंजी वाली कंपनियों के मूल्य में पिछले दो वर्षों में भारी गिरावट आई है। हालांकि इनमें से कई स्‍टॉक्स निवेश के लायक नहीं हैं, लेकिन इनमें कुछ अदृश्य रत्न भी हैं, जिनके स्टॉक्स पर निगेटिव सेंटिमेंट्स की मार पड़ी है।

जब बाजार में डर का माहौल हो, तो यह खरीदारी के लिए हमेशा ही अच्छा समय होता है और ऐसे में शुभ दिवाली से बेहतर कोई भी समय नहीं हो सकता है, जिसको लेकर भारतीय निवेशकों के दिल में एक खास जगह है। 

हमें विश्वास है कि अक्टूबर के बाद, आपको इक्विटी में अब तक का सर्वश्रेष्ठ उछाल देखने को मिलेगा। वर्ष 2020 में बाजार का प्रदर्शन निश्चित रूप से शानदार होगा। अभी तो महज शुरुआत है। आपको अभी से ही उन अवसरों का लाभ उठाना शुरू कर देना है जो हाथ से निकल चुके हैं और पैसे को काम में लगाने की शुरुआत करनी है।

हालांकि, खुदरा निवेशकों के लिए प्रायः सही स्‍टॉक का चश्‍न करना मुश्किल होता है, चूंकि उनके पास ताजा जानकारी नहीं होती है। हमारा सुझाव है कि जब तक प्रतिष्ठित विशेषज्ञों द्वारा सलाह न दी जाये, तब तक आप सीधे स्‍टॉक्स में निवेश करने के बजाये म्युचुअल फंड्स के सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान्स के जरिए निवेश करें। हमारे रिसर्च हाउस ने चुनिंदा प्राइवेट बैंकों, बीमा क्षेत्र एवं अन्य विभिन्न क्षेत्रों के चुनिंदा अच्छी गुणवत्ता वाले स्‍टॉक्स का परामर्श दिया है। जहां तक शेयरों की बात है तो हमारी रिसर्च टीम ने एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, टाइटन, कोल इंडिया व अन्य में खरीदारी का सुझाव दिया है।

हमारी रिसर्च टीम ने निवेशकों के लिए पांच म्युचुअल फंड्स का भी सुझाव दिया है। इन फंड्स के नाम हैं – निप्पन प्रूडेंशियल मिड कैप फंड ग्रोथ, एचडीएफसी स्मॉल कैप फंड ग्रोथ, एसबीआई मैग्नम मल्टी कैप फंड ग्रोथ और मिराए एसेट हाइब्रिड इक्विटी फंड ग्रोथ।

हमें इस बात का भी विश्वास है कि यदि सरकार अपने सुधार के एजेंडा को जारी रखती है और बीपीसीएल जैसे एक या दो विनिवेशों का प्रबंधन करती है, तो विदेशी निवेश आना चाहिए। हमें याद रखना होगा कि अधिकांश विकसित अर्थव्यवस्थाओं में ब्याज की दरें शून्य या ऋणात्मक हैं और इसलिए भारत उनके लिए आकर्षक अर्थव्यवस्था बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.