मैंने संगीत को नहीं, बल्कि संगीत ने मुझे चुना : अखिल सचदेवा

0
148

नई दिल्ली, गायक अखिल सचदेवा ने फिल्म ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ के ‘हमसफर’ गाने को अपनी आवाज दी थी और लोगों को उनका गाया हुआ यह गीत काफी पसंद आया था। हाल ही में उन्होंने फिल्म ‘कबीर सिंह’ के गाने ‘तेरा बन जाऊंगा’ से दर्शकों पर फिर से अपनी आवाज का जादू चलाया है।

हालांकि सचदेवा का कहना है कि संगीत को पेशे के तौर पर लेने की उनकी कभी कोई योजना नहीं थी। उनका कहना है कि उन्होंने संगीत को नहीं चुना, बल्कि संगीत ने उन्हें चुना है। फिलहाल उनका बस एक ही सपना है कि वह अंतिम सांस तक गाते रहें, और उनकी जान भी जाए तो मंच पर प्रस्तुति देते हुए।

हाल ही में साइबर हब की छठीं वर्षगांठ पर सचदेवा ने गुरुग्राम में परफॉर्म किया और इस दौरान उन्होंने आईएएनएस लाइफ से बात भी की और अपने सफर व आगामी परियोजनाओं का जिक्र किया।

संगीत का आगमन आपकी जिंदगी में कब हुआ? संगीत के प्रति अपने प्यार का एहसास आपको कब हुआ?

म्यूजिक में अब से करीब 10-11 साल हो चुके हैं। मेरी जिंदगी में एक वक्त ऐसा था जब मुझे पता नहीं था कि क्या करना है, मैंने बस गिटार उठाया और गाना शुरू कर दिया और उस दिन मुझे एहसास हुआ कि मैं यही करना चाहता था। मुझे लगता है कि वह मेरी जिंदगी का सबसे बेहतर दिन था। उस दिन जब मैंने कहा कि मैं म्यूजिक के सिवाय कुछ और नहीं चाहता हूं। मैंने संगीत को नहीं चुना, बल्कि इसने मुझे चुना।

संगीत के बारे में आपकी फिलॉसफी क्या है?

मेरा बस इतना ही मानना है कि संगीत आत्मा को छूना चाहिए। यह सहज हो। मुझे नहीं लगता है कि मैं संगीत को परिभाषित कर सकता हूं, कोई भी नहीं कर सकता है। जब यह बजता है तो इसे बस एहसास किया जा सकता है। चुप्पी भी संगीत है। इसे परिभाषित करने का कोई शब्द नहीं है।

इंडस्ट्री में आपका सफर कैसा रहा?

बेहतरीन! मुझे अपने संघर्षो का सामना करना पड़ा है, जिसमें से होकर हर किसी को गुजरना पड़ता है। इससे मेरा मतलब यह है कि संघर्षो, आलोचनाओं, तमाम उतार-चढ़ाव और असफलताओं के बिना आप सफल नहीं हो सकते हैं। मुझे इन सभी का सामना करना पड़ा है, लेकिन मैं बस खड़ा रहा और यही मेरी ताकत है क्योंकि मेरा मानना है कि मैं बहुत जुनूनी हूं और संगीत के अलावा मैं और कुछ भी नहीं कर सकता हूं। यह एक संघर्ष है, लेकिन यह बेहतरीन है क्योंकि संगीत ही जिंदगी है।

किस कलाकार को अपनी आवाज देना चाहते हैं? 

रणबीर कपूर और मैं ऐसा जल्द ही करने जा रहा हूं, यह मेरा वादा है।

जिंदगी की सबसे बड़ी सीख?

किसी स्थिति को तुरंत जज करना। धर्य रखिए क्योंकि चीजों को बदलने में लंबा वक्त नहीं लगता है और अगर ऐसा होता भी है तो चीजें जरूर बदलेंगी।

आगामी परियोजनाएं?

मेरा अगला गाना कुछ ही दिनों में आने वाला है। यह कुछ बड़ा होने जा रहा है। यह मेरे लिए काफी खास है, तो बस बने रहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.