यूपी: वाराणसी में गहराया प्रदूषण संकट, तारकेश्वर मंदिर में ‘शिवलिंग’ को लगाया गया मास्क

0
163

वाराणसी: कहते हैं कि अगर भक्त नहीं होते तो भगवान भी नहीं होते. यानी भगवान भक्तों के अधीन होते हैं, इसीलिए भक्त भगवान को भी अपने जैसा सुखी दुखी समझने लगते हैं. यही कारण है कि वाराणसी में बढ़ते प्रदूषण के कारण पूजारी और भक्तगण खुद तो मास्क लगाकर पूजा कर ही रहे हैं  साथ ही उन्होंने भगवान को भी मास्क लगा दिया है. वाराणसी के तारकेश्वर मंदिर में भगवान भोले नाथ को भी मास्क लगाकर रखा गया है ताकि वे सुरक्षित रह सकें.

सर्दियों के वक्त यहां भगवान को स्वेटर पहनाकर कंबल से ढका जाता है ताकि उन्हें ठंड ना लगे वहीं गर्मियों में एसी और पंखे लगाए जाते हैं.

वाराणसी के सिगरा स्थित काशी विद्यापीठ विद्यालय के नजदीक स्थित भगवान शिव पार्वती के मंदिर में भी स्थापित प्रतिमाओं को यहां के पुजारी और कुछ भक्तों ने मास्क पहना दिया है. पुजारी का कहना है, “वाराणसी आस्था की नगरी है. हम आस्थावान लोग भगवान के इंसानी रूप को महसूस करते हैं. गर्मी में भगवान की प्रतिमाओं को शीतलता प्रदान करने के लिए चंदन लेपन करते हैं. शरद ऋतु में इन्हें कंबल और स्वेटर भी पहनाए जाते हैं. जब हम इन्हें इंसानी रूप में मानते हैं तो उन पर भी प्रदूषण का असर हो रहा होगा. इसीलिए यहां स्थित प्रतिमाओं को हमने मास्क पहना दिया है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.