शशि थरूर ने नोटबंदी को बताया ‘ऑन गोल’, जानिए फैसले के तीन साल पूरा होने पर किसने क्या कहा

0
19

Third anniversary of Notebandi: नवंबर 2016 को आज ही दिन एक बड़ा फैसला हुआ था. देश में आज ही के दिन तीन साल पहले नोटबंदी लागू हुआ था. केंद्र सरकार ने फैसला किया था कि अब से 500 और 1000 के नोट देश में नहीं चलेंगे. सरकार ने फैसले के पीछे की वजह बताते हुए कहा था कि यह कदम आतंकवाद खत्म करने, कालेधन को समाप्त करने, नक्सल गतिविधियों पर अंकुश लगाने, भ्रष्टाचार खत्म करने और देश को डिजिटल बनाने के लिए लिया गया है. नोटबंदी के बाद से ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार इसे बड़ी उपलब्धी के तौर गिनवाती रही है. वहीं देश के कई अर्थशास्त्रियों और विपक्ष ने इसके उलट अपनी राय रखी थी. नोटबंदी को लेकर जनता के बीच से मिली-जुली प्रतिक्रिया आई थी.

आज नोटबंदी के तीन साल पूरे हो गए हैं तो ऐसे में फिर आज सुबह से ही लोग एक बार फिर मोदी सरकार के इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया सोशल नेटवर्किंग साइट पर जाहिर कर रहे हैं. आइए जानते हैं कि राजनेताओं से लेकर आम आदमी तक किसने इस फैसले को लेकर क्या कहा है.

किसने नोटबंदी को लेकर क्या कहा

कांग्रेस पार्टी के ट्विटर हैंडल से बीजेपी पर निशाना साधा गया. कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से लिखा गया कि नोटबंदी का एक मुख्य लक्ष्य था कि सिस्टम से फेक करेंसी को खत्म किया जाए लेकिन इस फैसले के एक साल के अंदर फेक करेंसी की संख्या देश में डबल हो गई.

राहुल गांधी ने भी नोटबंदी के तीन साल होने पर एक बार फिर पीएम मोदी पर हमला बोला. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी की तीसरी सालगिरह पर इस देश में आतंकी हमला बताया है. राहुल गांधी ने कहा है कि नोटबंदी के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए. वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि नोटबंदी एक आपदा थी, जिसने हमारी अर्थव्यवस्था नष्ट कर दी. इस ‘तुग़लकी’ कदम की जिम्मेदारी अब कौन लेगा? राहुल गांधी ने क्या ट्वीट किया है? राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा है, “नोटबंदी आतंकी हमले को तीन साल गुजर गए हैं, जिसने भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया, कई लोगों की जान ले ली, कई छोटे कारोबार खत्म कर दिए और लाखों भारतीयों को बेरोजगार कर दिया.” राहुल ने हैशटैग ‘डीमोनेटाइजेशन डिजास्टर’ का इस्तेमाल करते हुए कहा कि इस निंदनीय हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को कानून के समक्ष लाया जाना बाकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.