गाजियाबाद सुसाइड अपडेट: जींस की फैक्ट्री में घाटा होने की वजह से की परिवार ने सुसाइड

0
23

नई दिल्ली: दिल्ली से सटे गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके में मंगलवार की सुबह एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है. जिसमें एक सोसाइटी की आठवीं मंजिल से कूदकर दो महिलाओं और एक पुरुष ने छलांग लगा दी. जिनमें से एक महिला और पुरुष की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि एक महिला की मौत हॉस्पिटल में इलाज के दौरान हो गई. जैसे ही इस घटना की जानकारी सोसायटी के अन्य लोगों को मिली तो इलाके में हड़कम्प मच गया. आनन-फानन में इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई.

सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला और पुरुष के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया. पुलिस ने जैसे ही घटना की जांच के लिए आठवीं मंजिल पर स्थित उनके फ्लैट को खोल कर देखा तो पुलिस के भी होश उड़ गए, क्योंकि घर के अंदर एक लड़की और एक लड़के की लाश भी बेड पर बरामद हुई. इतना ही नहीं घर में एक खरगोश भी पाला हुआ था. खरगोश भी मृत पाया गया. कमरे में एक सुसाइड नोट दीवार पर लिखा हुआ भी बरामद हुआ है. जिसमें पूरे परिवार का आत्महत्या किए जाने का कारण आर्थिक तंगी और करीबी रिश्तेदार राकेश वर्मा (म्रतक का साढ़ू ) पर 2 करोड़ रुपये का कर्ज बताया गया है. अब पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है.

गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके के वैभव खंड स्थित कृष्णा सफायर सोसाइटी की 8वीं मंजिल पर 806 नंबर का फ्लैट है. फ्लैट की बालकनी से कूदकर पति पत्नी और एक अन्य महिला द्वारा सुसाइड किया गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच के दौरान उनके फ्लैट को खोल कर देखा तो पुलिस के भी होश उड़ गए. क्योंकि घर के अंदर करीब एक 13 साल का लड़का ह्रितिक और 18 साल की लड़की रितिका मृत हालत में बेड पर पड़े मिले. घर के अंदर ही इन्हें एक खरगोश पाला हुआ था. वह खरगोश भी मृत पाया गया और कमरे में ही एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है. इस सुसाइड नोट में सुसाइड करने का कारण आर्थिक तंगी और कुछ लोगों पर बड़ी रकम का बकाया होना बताया गया है. जिसके पीछे इनके संबंधी साढ़ू राकेश वर्मा पर इन्होंने सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है.

पुलिस के अनुसार राकेश वर्मा पर सुसाइडल गुलशन वासुदेव के तकरीबन 2 करोड़ बकाया थे. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि गुलशन की जींस की फैक्ट्री थी. जिसमें उसे घाटा हो गया था और फिलहाल वह आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. बाकी एक बड़ी रकम उसकी अपने रिश्तेदार पर फंस गयी थी और राकेश के दिये चेक बाउंस हो गये थे और रकम उसे वापिस नहीं मिल पा रही थी. माना जा रहा है कि गुलशन के द्वारा पहले घर में पाले हुए खरगोश को मारा गया. उसके बाद दोनों बच्चों को गला दबाकर मारा गया. सल्फाज की स्मेल भी कमरे से आ रही थी. बताया जा रहा है कि संजना कंपनी में बतौर मैनेजर 5 साल से कार्यरत थी और बीती रात करीब 9 बजे उसके घर पहुंची थी. संजना परिवार के काफी क्लोज थी.

सुसाइड की असल वजह गुलशन के सगे संबंधी राकेश वर्मा को बताया जा रहा है. सुसाइड नोट में भी राकेश वर्मा को इन मौतों का जिम्मेदार बताया गया है. मिली जानकारी के अनुसार मृतक गुलशन ने दिल्ली की झिलमिल कॉलोनी में अपनी पैतृक संपत्ति को बेचा था. एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि राकेश वर्मा के परिजनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. एफआईआर दर्ज कर अगली कार्रवाई की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.