कर्नाटक उपचुनाव परिणाम: BJP की बड़ी जीत, सिद्धारमैया ने नेता विपक्ष पद से दिया इस्तीफा, पीएम मोदी कांग्रेस पर बरसे

0
57

नई दिल्ली: कर्नाटक में सत्तारूढ़ बीजेपी को 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में शानदार सफलता मिली है और पार्टी ने कुल 12 सीटों पर जीत दर्ज की है. इसी के साथ येदियुरप्पा सरकार को पूर्ण बहुमत मिल गया है. चुनाव परिणाम विपक्षी दल कांग्रेस और जेडीएस के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है.

पहले के चुनाव में इन 15 सीटों में से 12 सीटों पर कांग्रेस जीती थी. इस चुनाव में पार्टी केवल दो सीट पर जीत दर्ज कर सकी है. पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के नेतृत्व वाली जेडीएस खाता खोलने में नाकामयाब रही. पूर्व में हुए चुनाव में उसके पास तीन सीटें थीं.

सिद्धारमैया ने दिया इस्तीफा

चुनाव परिणाम में पार्टी को झटका लगने के बाद सिद्धारमैया ने नेता विपक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कहा कि हम जनता के फैसले को स्वीकार करते हैं. मैंने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष को भेज रहा हूं

होसकोटे से निर्दलीय उम्मीदवार शरथ बच्चेगौड़ा जीत की ओर बढ़ रहे हैं. उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार एमटीबी नागराज को मात दी है. एमटीबी नागराज देश के अमीर उम्मीदवारों में से एक है और कांग्रेस और जेडीएस ने पैसों के पावर का आरोप एमटीबी नागराज पर लगाया था.

बीजेपी को सदन में बहुमत में बने रहने के लिए कम से कम छह सीटों पर जीत की जरूरत थी. बीजेपी ने अब 12 सीटों पर जीत दर्ज की है.

पीएम मोदी का बयान

चुनाव नतीजों के बीच झारखंड के बरही में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसने पिछले दरवाजे से कर्नाटक में जनादेश चुराया था लेकिन अब जनता ने पार्टी को सबक सीखा दिया है. मोदी ने कहा कि कुछ लोग कहते थे कि दक्षिण भारत में बीजेपी का प्रभाव सीमित है. कर्नाटक के उन लोगों को उपचुनाव में लोकतांत्रिक तरीके से सजा दी है.

मोदी ने कहा, ‘‘कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने कर्नाटक में जनादेश का उल्लंघन किया और उसकी पीठ में छुरा भोंका. इन पार्टियों को अब हार का मुंह देखना होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘कर्नाटक का परिणाम याद रखना बहुत जरूरी है क्योंकि उठापटक की राजनीति करने वाले नेताओं के लिए यह बहुत कड़ा संदेश है.’’

विधायकों को अयोग्य करार दिए जाने के बाद विधानसभा में इस समय 208 सदस्य हैं जिनमें बीजेपी के पास 105 (एक निर्दलीय सहित), कांग्रेस के 66 और जेडीएस के 34 विधायक हैं. बसपा का भी एक विधायक है. इसके अलावा एक मनोनीत विधायक और विधानसभा अध्यक्ष हैं. चुनाव परिणाम के बाद बीजेपी के सदस्यों की संख्या 105 से बढ़कर 117 हो गई है जो 223 सदस्यीय सदन में बहुमत के 111 के आंकड़े से अधिक है. उच्च न्यायालय में लंबित याचिका के कारण दो सीटें खाली हैं.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.