ठंड का सितम: यूपी के बांदा में 27 और एमपी के दमोह में 7 गायों की मौत

0
171

बांदा/दमोह: उत्तर भारत में शीतलहर ने जानवरों पर भी कहर बरपाया है. भीषण ठंड से उत्तर प्रदेश के बांदा में 27 गायों की मौत हो गई. वहीं मध्य प्रदेश के दमोह में भी ठंड से 7 गायों ने दम तोड़ दिया है. गायों की मौत के पीछे प्रशासन की लापरवाही की बात सामने आई है. उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप जारी है.

 काऊकोट उपलब्ध होने के बावजूद नहीं पहनाए गए कोट

यूपी के बांदा में एक तरफ जनपद मुख्यालय पर बने गोशाला में गाय को ठंड से बचाने के लिए काऊकोट की व्यवस्था कर प्रशासन भले ही अपनी पीठ थपथपा रहा हो, लेकिन वहीं जिले के ग्रामीण क्षेत्रों मे बनी गौशालाओं मे अभी गौवंश इस हाड़कपा देने वाली ठंड मे ठिठुर रही हैं. दरअसल हरैया विकास खण्ड और दुबौलिया विकास खण्ड में बनी वृहद गौशाला, जोगा पुर और रमनातौफी में गायों को ठंड से बचाने के लिए जूट का कोट नहीं पहनाया गया था. ये हाल तब है जब गौशालाओं काऊकोट उपलब्ध है.

रमना तौफी गौशाला में कई गौवंश बिमार हैं और कई गायों की मौत हो गयी है. लागतार हो रही मौतों के बाद भी कर्मचारी संवेदनशील नही हैं. इतना ही नहीं स्थानीयों ने बताया कि जोगापुर गौशाला में भी गायों को काऊ कोट नहीं पहनाया गया. कर्मचारियों पर आरोप है कि अगर किसी जानवर की मौत हो जाती है तो उसे खुले में फेंक दिया जाता है.

इस बाबत एसडीएम हरैया प्रेम प्रकाश मीणा ने कहा कि शासन का साफ निर्देश है कि गौशाला में जानवरों के लिए सभी जरूरी चीजें मुहैया कराई जाए. अगर कहीं लापरवाही पाई जाती है तो जिम्मेदार व्यक्ति पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. एसडीएम ने कहा कि एडीओ पंचायत को नियमित धरातल पर जाकर निरीक्षण के लिए कहा गया है.

एमपी के दमोह में भी 7 गायों की मौत

वहीं, मध्य प्रदेश के दमोह में भी लापरवाही के ऐसे ही हालात हैं. जिले भर से ठंड की वजह से जानवरों की मौत की खबर है तो जिले के तेंदूखेड़ा में पिछले दो दिनों में सात गायों की मौत के बाद सनसनी फली हुई है. सड़कों पर घूमने वाले आवारा जानवरों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है. प्रशासन की तरफ से फिलहाल ऐसे जानवरों के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.