Explained: डॉन करीम लाला से पीएम इंदिरा गांधी की मुलाकात के दावे पर मचा बवाल, जानिए- डॉन के गुनाहों की कुंडली

0
64

नई दिल्ली: अपने बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहने वाले शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है जिसकी हर ओर चर्चा हो रही है. संजय राउत ने बुधवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी डॉन करीम लाला से मिला करती थीं. संजय राउत ने इसके साथ मुंबई में अंडरवर्ल्ड के समय को याद करते हुए कहा कि एक समय था जब मुंबई में दाउद इब्राहिम, छोटा शकील और शरद शेट्टी जैसे डॉन मुंबई और आसपास के इलाकों पर कंट्रोल रखते थे. शिवसेना नेता ने कहा कि ये लोग तय करते थे कि मुंबई पुलिस के कमिश्नर कौन होंगे और कौन मंत्रालय में बैठेंगे. संजय राउत ने कहा कि उन्होंने एक बार डॉन दाऊद इब्राहिम को फटकार लगाई थी.

मुंबई में एक कार्यक्रम में अपने पत्रकारिता के अनुभवों को बताते हुए संजय राउत ने कहा, ‘’आज अंडरवर्ल्ड में चिंदीगिरी होती है. हमने अंडरवर्ल्ड का वो समय देखा है, जब डॉन हाजी मस्तान मंत्रालय पहुंचता था तो लोग उसके स्वागत में बाहर आकर खड़े हो जाते थे.’’ इस दौरान उन्होंने कहा, ”देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांदी भी मुंबई के पहले डॉन करीम लाला से पायधुनी इलाके में मिलने जाती थीं.” उन्होंने आगे कहा, ‘’मैं वो शख्स हूं जिसने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को फटकार तक लगाई है.’’

कौन था डॉन करीम लाला

करीम लाला, अब्दुल करीम शेर खान के नाम से जाना जाता था. वह 1930 में भारत आया था. 1960 से 80 के बीच वह शराब की तस्करी, जुआ और जबरन वसूली का रैकेट चलाया करता था. वह इसके साथ ही सोने, चांदी और हथियारों के अवैध व्यापार का धंधा चलाया करता था. कहा ये भी जाता है कि अमिताभ की फिल्म ‘जंजीर’ में ‘प्राण’ ने जो किरदार निभाया था वह करीम लाला से प्रेरित था. करीम लाल की मृत्यु साल 2002 में 90 साल की उम्र में हो गई थी.

गौरतलब है कि मुंबई में 90 के दशक तक अंडरवर्ल्ड का बोलबाला रहा है. इन डॉन में हाजी मस्तान, अबू सलेम, अरुण गवली और दाऊद इब्राहिल का नाम प्रमुख है. इस दौरान अधिकतर समय तक केंद्र में कांग्रेस की सरकार रही है. इंदिरा गांधी पहली बार 1966 में प्रधानमंत्री बनी थीं. वह 1984 तक देश की प्रधानमंत्री रही थीं.

इस पूरे मामले पर कांग्रेस प्रवक्ता चरण सिंह सापरा ने कहा है कि संजय राउत ने जो कहा है वह उसका सबूत दें. उन्होंने कहा कि हम इस बयान को सही नहीं मानते हैं. वहीं, बीजेपी ने कहा है कि कांग्रेस और अंडरवर्ल्ड का पुराना नाता है. पार्टी नेता आशीष सैलार ने कहा है कि संजय राउत ने जो भी कहा है अगर वह सही है तो इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए.

बता दें कि शिवसेना नेता संजय राउत का ये बयान ऐसे समय में आया है जब महाराष्ट्र में शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी की गठबंधन सरकार है. बुधवार को ही शिवसेना नेता और सीएम उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मिलने दिल्ली स्थित उनके आवास पर आए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.