मोदी सरकार के NPR के मुकाबले में कांग्रेस का नेशनल रजिस्टर ऑफ अनएम्प्लॉयड, शुरू की ये मुहिम

0
63
Karad: Congress supporters celebrate outside Prithviraj Chavan's residence after he won Karad (South) constituency in the Maharashtra assembly polls, in Karad, Thursday, Oct. 24, 2019. (PTI Photo) (PTI10_24_2019_000112B)

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी NPR के खिलाफ है. पार्टी चाहती है कि इसके बदले NRU बने. NRU मतलब नेशनल रजिस्टर ऑफ अनएम्प्लॉयड है. ये रजिस्टर बेरोजगारों के लिए बनेगा. जिसमें देश भर के बेरोजगारों का पूरा ब्यौरा होगा. पार्टी ने इसके लिए मिस्ड कॉल की एक मुहिम शुरू की है. कोई भी इसका समर्थन करने के लिए 8151994411 नंबर पर मिस्ड कॉल कर सकता है.

’45 सालों में पहली बार देश में सबसे ज्यादा बेरोजगार’ का नारा कांग्रेस ने दिया है. कई बेरोजगार नौजवानों के वीडियो के साथ पार्टी ने एक प्रचार अभियान शुरू किया है. #NaukariKiBaat नाम से कांग्रेस ने एक हैशटैग भी शुरू किया है. CAA, NPR और NRC के खिलाफ कांग्रेस आर-पार की लड़ाई का एलान कर चुकी है. मणिशंकर अय्यर, सलमान खुर्शीद और दिग्विजय सिंह जैसे बड़े नेता शाहीनबाग भी गए. जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं, वहां ये एलान किया गया है कि NPR लागू नहीं होने दिया जाएगा.

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि बीजेपी सरकार असली मुद्दों पर बात करने को तैयार नहीं है. बस ध्यान भटकाने के लिए CAA और NPR की आग में देश को झोंका जा रहा है. कांग्रेस पार्टी NRU के जरिए पब्लिक का मूड भी जानना चाहती है. सोशल मीडिया पर NRU के समर्थन में नौजवानों के वीडियो पोस्ट किए जा रहे हैं.

एक आंकड़े के मुताबिक केंद्र सरकार के अलग-अलग विभागों में करीब 7 लाख पद खाली हैं. जिनमें सबसे ज्यादा ग्रुप सी के करीब 5 लाख 75 हजार पद खाली हैं. जब चुनाव करीब आते हैं तो नौकरियां भरने का लॉलीपॉप थमा दिया जाता है. हाल ही में कुछ राज्यों के चुनाव के बाद कांग्रेस को लग रहा है कि जनता अब जरूरी मुद्दों पर बात करना चाहती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.