एनबीए को प्रोमोट करने भारत आएंगे रॉन हार्पर

0
24

मुम्बई, पांच बार के एनबीए चैम्पियन रॉन हार्पर 25 से 30 जनवरी के बीच भारत दौरे पर रहेंगे। रॉन का यह दौरा भारत में इस खेल को लोकप्रिय बनाने के एनबीए के सतत प्रयासों का हिस्सा है। हार्पर अपने भारत दौरे पर सबसे पहले 25 जनवरी को मुम्बई पहुंच रहे हैं। यहां वह 26 जनवरी को सेंट स्टैनसिलास स्कूल में स्थित एनबीए बास्केटबॉल स्कूल में युवा खिलाड़ियों से मुखातिब होंगे। हार्पर इसके बाद सोनी टेन 1 के एनबीए रैपराउंड शो ‘एराउंड ग हॉप’ में हिस्सा लेंगे और मौजूदा सीजन के बारे में बात करेंगे।

अगले दिन हार्पर मुम्बई में ही रिलायंस फाउंडेशन जूनियर एनबीए प्रोग्राम में युवाओं को टिप्स देंगे। हार्पर इसके बाद दिल्ली होते हुए चंडीगढ़ जाएंगे जहां वह रिलायंस फाउंडेशन जूनियर एनबीए प्रोग्राम में हिस्सा लेंगे। यह कार्यक्रम 30 जनवरी को होगा। वह एनबीए कोचेज अकादमी के तहत कोचों के साथ बातचीत करेंगे।

हार्पर डेटॉन ( ओहियो) के एक शूटिंग गार्ड रहे हैं। 1986 में पहली बार उन्हें एमबीए ड्राफ्ट में शामिल किया गया था और क्लेवरलैंड केलेवियर्स ने उन्हें अपने साथ जोड़ा था। हार्पर पांच बार के एनबीए चैम्पियन रह चुके हैं। वह 1996 से 1998 तक शिकागो बुल्स और 2000 तथा 2001 में लॉस एंजेलिस लेकर्स के लिए एनबीए चैम्पियनशिप जीत चुके हैं। 

2020 रिलायंस फाउंडेशन जूनियर एनबीए प्रोग्राम की शुरुआत 17 जनवरी को केरल की राजधानी त्रिवेंद्रम में एनबीए कोचेज अकादमी के साथ हो चुकी है। इस प्रोग्राम का यह लगातार सातवां साल है और इसमें 34 शहरों के 8000 स्कूलों से 70 लाख युवाओं और 8000 फिजिकल एजुकेशन इंस्ट्रक्टर्स के हिस्सा लेने की उम्मीद है।

हार्पर ने कहा, “मैं भारत में बास्केटबॉल को लोकप्रिय बनाने के एनबीए की प्रयासों के तहत भारत वापसी को लेकर रोमांचित हूं। द एनबीए इंडिया गेम्स 2019 के दौरान भारत में इस खेल को लेकर जबरदस्त रोमांच था। मैं यह देखना चाहता हूं कि 2013 में जब मैंने पहली बार भारत दौरा किया था, तब से लेकर आज तक भारत में इस खेल ने कितना विकास किया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.