राजपथ पर मेहमानों का मन मोह ले गई राजस्थानी कला-संस्कृति वाली झांकी

0
60

नई दिल्ली, चार साल के लंबे अंतराल के बाद राजपथ पर उतरी राजस्थान की झांकी मेहमानों का मन मोह ले जाने में कामयाब रही। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान राजपथ पर राजस्थान लोक कला और संस्कृति से लबरेज झांकी ज्यों ही मेहमानों की नजरों के सामने से गुजरी, जमाना राजस्थानी ‘हुनरमंदी’ को देखता ही रह गया। राजस्थान की झांकी का रंग-ढंग और उसमें इस्तेमाल कलाकारी का मेहमानों की भीड़ ने सराबोर होकर आनंद लिया। झांकी में यूं तो उसकी हर बात निराली और मनमोहक लग रही थी। इन तमाम खूबसूरतियों से परे थी मगर झांकी में पश्चिम क्षेत्र सांस्कृति केंद्र, उदयपुर के कलाकारों की मन-मोहिनी मौजूदगी। गुलाबी रंग में रंगी राजस्थानी कला के जीते-जागते और राजपथ से गुजरती झांकी में राजकीय कन्या विद्यालय नई दिल्ली द्वारा प्रस्तुत राजस्थानी नृत्य जन भी आकर्षण का केंद्र रहे।

झांकी में ऐतिहासिक नगर जयपुर की हेरिटेज विरासत के साथ ही अन्य तमाम दर्शनीय भवनों के वैभव को भी बेहद खुबसूरती से दिखाने की कोशिश भी उस वक्त कामयाब रही, जब मौजूद मेहमानों ने झांकी का पहला दीदार करते ही तालियों से वातावरण को गड़गड़ा डाला। झांकी में उदयपुर के लोक कलाकारों द्वारा पेश किये गये गुजरात के पारंपरिक गरबा नृत्य की प्रस्तुति ने भी दर्शकों को खुद की ओर खींचने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.