पटना: लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप अपने विवादित बयान को लेकर फिर से सुर्खियों में हैं. तेजप्रताप यादव एक कार्यक्रम में सभा को संबोधित करने पहुंचे. जहां उन्होंने सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी को लेकर बयान दिया.

क्या कहा है बयान में-

पटना से सटे मसौढी में सभा को संबोधित करने पहुंचे तेज प्रताप यादव ने एनआरसी और सीएए को लेकर चल रहे विवाद पर सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला. केंद्र सरकार और राज्य सरकार पर कटाक्ष करते हुए तेज प्रताप ने सीएम नीतीश कुमार पर टिप्पणी की.उन्होंने कहा कि पहले पिताजी (लालू प्रसाद) ने नीतीश कुमार का नाम पलटूराम रखा. अब मैंने नीतीश कुमार का नया नामकरण कर दिया है. अब उन्हें नीतीश कुमारी कहा जाएगा. साथ में हैं भगवा वाले सुशील कुमारी मोदी.’

तेज प्रताप ने सामने आकर लड़ने की दी चुनौती

मसौढी में एनआरसी और सीएए को लेकर चल रहे आंदोलन में के दौरान तेज प्रताप ने जेडीयू और बीजेपी के बड़े नेताओं को जमकर ललकारा. बिना नाम लिए तेज प्रताप ने कहा कि ‘अगर उनमें हिम्मत है तो सामने आकर हमसे लड़ाई लड़ें, घर में चूड़ी पहनकर बैठे ना रहें’.

तेज प्रताप ने कहा कि आरएसएस वालों ने पहले लालू जी को जेल भेजा और फिर ये कानून पास कराया. आज अगर लालू जी जेल से बाहर होते तो ऐसा काला कानून भी कभी लागू नहीं होता. सिर पर No-NRC लिखी काली पट्टी बांधकर तेज प्रताप यादव सभा में पहुंचे. तेज प्रताप ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले उन्होंने चोर दरवाजे से एंट्री ली. ऐसी एंट्री ली कि लूट, हत्या, बलात्कार रोज हो रहा है.

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद के समय में कोई गरीब अगर थाने जाता था तो उसका काम सबसे पहले होता था लेकिन आज अगर कोई गरीब थाने जाता है तो उसे धक्का देकर निकाल दिया जाता है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने साजिश रचकर झूठे मुकदमे में मेरे पिता लालू यादव को फंसा कर जेल भिजवाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.