4 बजे तक 42% वोटिंग, शाहीन बाग में महिलाएं अलग-अलग जत्थों में वोट डालने आईं ताकि प्रदर्शन पर असर न पड़े

0
194

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोटिंग जारी है। शाहीन बाग इलाके में भी पोलिंग बूथ पर लोग वोट डालने के लिए उमड़े। यहां 15 दिसंबर से सीएए और एनआरसी के विरोध में प्रदर्शन चल रहा है। प्रचार के दौरान धरने पर काफी बयानबाजी भी हुई थी। सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का केंद्र बने शाहीन बाग (ओखला विधानसभा क्षेत्र) में पांच पोलिंग बूथ हैं। यहां महिलाएं अलग-अलग जत्थों में वोट डालने आईं ताकि प्रदर्शन पर वोटिंग का असर न पड़े।

दिल्ली में करीब 1.47 करोड़ मतदाता, इनमें करीब 66 लाख महिलाएं हैं। पिछला विधानसभा चुनाव 2015 में हुआ था। आम आदमी पार्टी (आप) ने 70 में से 67 सीटें जीती थीं। भाजपा ने तीन सीटें जीती थीं। 15 साल दिल्ली की सत्ता पर काबिज रहने वाली कांग्रेस का खाता तक नहीं खुल सका था। इस बार भी मुख्य मुकाबला भाजपा और आप के बीच ही नजर आ रहा है। हालांकि, कांग्रेस का दावा है कि दिल्ली के नतीजे हैरान करने वाले होंगे।

वोटिंग प्रतिशत

समयकितनी वोटिंग
4 बजे42.20%
3 बजे40.5%
2 बजे27.92%
1 बजे17.39%
12 बजे15.47%
11 बजे11%
10 बजे4.33%
  • सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस आर भानुमति, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, सांसद प्रवेश वर्मा, चांदनी चौक से आप उम्मीदवार अलका लांबा ने वोट डाला।
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, विदेश मंत्री एस जयशंकर औरदिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने भी मताधिकार का उपयोग किया।
  • मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूरे परिवार के साथ वोट डाला। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि आप दोबारा सत्ता में आएगी। विदेश मंत्री एस जयशंकर और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी वोट डाला।
  • राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने पति रॉबर्ट समेत मतदान किया। प्रियंका-रॉबर्ट वाड्रा के बेटे रेहान ने पहली बार वोट डाला।
  • दिल्ली की सबसे बुजुर्ग महिला कलीतरा मंडल ने भी वोट डाला।

मुख्य मुद्दे और वादे
आम आदमी पार्टी : मुफ्त बिजली-पानी। बेहतर अस्पताल और स्कूल। अगली सरकार में किए जाने वाले कामों का गारंटी कार्ड।
भाजपा : जहां झुग्गी, वहीं मकान। 5 साल में 10 लाख नौकरियों का वादा। हर घर में साफ पानी देंगे।
कांग्रेस : शीला दीक्षित वाली दिल्ली देंगे। वो तीन बार सीएम रहीं। बुजुर्गों को शीला पेंशन देने का चुनावी वादा।

अनाधिकृत कॉलोनियों में 30 लाख से ज्यादा वोटर
दिल्ली की करीब 1800 अनाधिकृत कालोनियों में 30 लाख से ज्यादा वोटर का आकलन राजनीतिक दलों का है। ये कॉलोनियां करीब 40 विधानसभा सीटों में हैं। दलों का ये भी दावा है कि 30 से ज्यादा विधासभा सीटें ऐसी हैं, जहां इन्हीं कॉलोनियों के मतदाता हार-जीत तय करते हैं। यही वजह है कि अनाधिकृत कॉलोनियों के बारे में आप और भाजपा ने अहम घोषणाएं की हैं। 

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 के नतीजे (70 सीट)

पार्टीसीटवोट शेयर
आप6754.30%
भाजपा332.10%
कांग्रेस09.60%

कुल वोटर : 1,33,13,295
वोट पड़े : 89,36,159 (67.1%)

दिल्ली लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे (7 सीट)

पार्टीसीटवोट शेयर
आप018.10%
भाजपा756.50%
कांग्रेस022.50%

कुल वोटर : 1,43,16,453
वोट पड़े : 86,79,012 (60.6%)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.