पाकिस्तान की साजिश का खुलासा: बालाकोट में फिर खोला गया आतंकी कैंप, मसूद के भाई से प्रतिबंध हटाया

0
51
**EDS: FILE** Karachi: In this Jan. 22, 2000 file photo Maulana Masood Azhar arrives at the Karachi airport in Pakistan. In a huge diplomatic win for India, the United Nations on Wednesday, May 1, 2019 designated Pakistan-based Jaish-e-Mohammed chief Masood Azhar as a global terrorist after China lifted its hold on a proposal to blacklist him under the Security Council’s Sanctions Committee. AP/PTI(PTI5_1_2019_000160B)

नई दिल्ली: पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार आतंकियों के खिलाफ भारत ने पाकिस्तान को डोजियर दिया था. विश्व के लगभग सभी देशों ने इस डोजियर का समर्थन किया गया था. इस डोजियर में जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के भाई रऊफ अजहर का भी नाम था.

पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को जैश के आतंकी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा. जिसके दिखावे में पाकिस्तान ने पहले उसे बंद किया और अब दुनिया को दिखाने के लिए एक तरफ लश्कर प्रमुख हाफिज सईद को जेल की सजा दी गई है. वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान सरकार ने जैश-ए-मोहम्मद के ऑपरेशनल कमांडर मोहम्मद अब्दुल रऊफ अजहर से सभी तरह के प्रतिबंध हटा दिए हैं.

सूत्रों के मुताबिक बालाकोट में आतंक का नया ट्रेनिंग सेंटर खोला गया है. ट्रेनिंग सेंटर का नाम मरकज सैयद अहमद शहीद रखा गया है. इस ट्रेनिंग सेंटर की जिम्मेदारी बालाकोट ट्रेनिंग सेंटर के प्रमुख मौलाना युसूफ अजहर को सौंपी गई. इस ट्रेनिंग सेंटर में आतंक के ट्रेनर और ट्रेनी दोनों के लिए एक नया कोर्स ‘सेंटर असवारी तरबियती शोभा’ शुरू किया गया. इस ट्रेनिंग सेंटर के पहले फिदायीन दस्ते को भारत भेजने की तैयारी है. रऊफ आईसी 814 की हाईजैकिंग के प्लान में शामिल था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.