नई दिल्ली: चीन में लगातार जारी कोरोना वायरस संक्रमण के बीच भारत जहां अगले कुछ दिनों में मदद और राहत सामग्री भेजेगा, वहीं चिकित्सा सहायता का सामान लेकर जाने वाला विमान अपने साथ वुहान और सर्वाधिक वायरस प्रभावित हुबेई प्रांत में मौजूद भारतीयों को साथ लेकर आएगा.

विदेश मंत्रालय के मुताबिक भारत इस सप्ताह के अंत में चीन को सीओवीआईडी -19 महामारी से लड़ाई में मदद के लिए एक राहत उड़ान पर चिकित्सा आपूर्ति की खेप वुहान भेजेगा. वहीं वापसी के दौरान इस विमान में कुछ लोगों को साथ लेकर आने की क्षमता होगी. लिहाज़ा, वुहान/हुबेई से भारत लौटने की इच्छा रखने वाले भारतीयों के लिए इस राहत उड़ान में वापस आने की सुविधा उपलब्ध होगी. भारत मास्क, दस्तानों समेत करीब 16 चिकित्सा आइटम मदद सामग्री के तौर पर चीन को भेज रहा है.

महत्वपूर्ण है कि 80 से अधिक भारतीय अब भी वुहान में मौजूद हैं. बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास के मुताबिक बीते दो.सप्ताह के दौरान, वुहान/हुबेई प्रांत में मौजूद भारतीयों ने वापस लौटने ली इच्छा जताते हुए दूतावास से संपर्क किया है. इस उड़ान में शेष समय के दौरान दूतावास ने वुहान और हुबेई में मौजूद सभी भारतीयों से सम्पर्क करने को कहा है.

गौरतलब है कि भारत ने 1 और 2 फरवरी को वुहान शहर और हुबेई प्रांत से विशेष उड़ानों की मदद से करीब 650 भारतीय नागरिकों को बाहर निकाला था. इनमें अधिकतर छात्र थे. भारत लाए जाने के बाद इन सभी लोगों को दिल्ली के करीब मानेसर में बनाए गए मानेसर व छाबला में सेना और आईटीबीपी के कैम्प में 14 दिन केक्वारन्टीन में रखा गया था.

आईटीबीपी के मुताबिक छाबला कैम्प में मौजूद सभी लोग स्वस्थ हैं. उनमें कोरोना वायरस का कोई भी लक्षण बीते 15 दिनों से लगातार की जा रही जांच में नहीं पाया गया. लिहाज़ा अब इन लोगों को अपने अपने घर जाने की इजाजत दी जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.