नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच नोएडा से फरीदाबाद जाने वाला रास्ता खोल दिया गया है. पुलिस ने ओखला बर्ड सेंचुरी पर महामाया फ्लाइओवर के पास वाली रोड पर करीब दो महीने से लगी बैरिकेडिंग हटा दी है, जिससे वाहनों का आना-जाना शुरू हो गया है.

69 दिनों से चल रहे आंदोलन से परेशान लोगों को कुछ राहत मिली

इस रास्ते के खुल जाने से शाहीन बाग में 69 दिनों से चल रहे आंदोलन से परेशान लोगों को कुछ राहत जरूर मिली है. जो रास्ता आज खोला गया है, वह बदरपुर के रास्ते फरीदाबाद जाता है. अब नोएडा से फरीदाबाद जाने वाले लोगों को राहत मिलेगी. ओखला बर्ड सेंचुरी वाली रोड की बैरिकेडिंग दिल्ली पुलिस की अपील पर नोएडा पुलिस ने लगाई थी. ये रास्ता 15 दिसंबर के बाद से बंद था. वहीं, बता दें कि इस सड़क का दूसरा रास्ता नोएडा और दिल्ली के मयूर विहार, अक्षरधाम की ओर निकलता है. यानी अब महामाया से अक्षरधाम, मयूर विहार, बदरपुर, ओखला और साउथ दिल्ली जाने वालों को भी राहत मिलेगी.

पहले लगते थे दो घंटे, अब लगेंगे बीस मिनट- वाहन चालक

एबीपी न्यूज़ ने रास्ता खुल जाने के बाद एक कार चालक जायश से बातचीत की तो उन्होंने बताया, ‘’पहले दो घंटे लगते थे. ये रास्ता खुलने से 20 मिनट में पहुंचेंगे. पहले में मेट्रो में गाड़ी पार्क करता था और डीएनडी से जाता था तो दो घंटे लगते थे. वहीं एक अन्य बाईक सवार ने कहा, ‘’सरिता विहार में जो काम करते हैं, उनको परेशानी हो रही थी. पहले मुझे जाने में दो घंटे लगते थे. अब मैं बीस मिनट में पहुंच जाऊंगा. इस रास्ते पर बैरिकेडिंग की कोई जरूरत नहीं है.’’

कल वार्ताकारों ने किया था पुलिस बैरिकेडिंग का मुआयना

हालांकि कालिंदी कुंज रास्ता अभी भी बंद है. पिछले दो महीनों से इसी रास्ते पर लोग जमे हुए हैं. कल सुप्रीम कोर्ट की तरफ से नियुक्त हुए वार्ताकारों संजय हेगड़े ओर साधना रामचंद्रन ने तीन प्रदर्शनकारी महिलाओं के साथ उन जगहों का मुआयना किया, जहां पुलिस ने बैरिकेडिंग की हुईं थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.