कश्मीर में 7 महीने बाद ब्रॉडबैंड सर्विसेज बहाल, हाई स्पीड 4G इंटरनेट पर लगा बैन फिलहाल जारी

0
129
Jammu and Kashmir, Mar 05 (ANI): People check social media websites on their mobile phones, in Srinagar on Thursday. Jammu and Kashmir's administration has lifted the ban on social media sites that was in place for over seven months since the abrogation of Article 370 on August 5 last year. (ANI Photo)

नई दिल्लीः कश्मीर घाटी में आखिरकार 7 महीने बाद ब्रॉडबैंड सेवाएं बहाल कर दी गई हैं. कल कश्मीर घाटी में सोशल मीडिया पर लगा बैन खत्म कर दिया गया था और आज कश्मीर में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाएं फिर से मुहैया करा दी गई हैं. आज बीएसएनएल ने दोपहर में इन ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर दिया. ये सेवाएं 4 अगस्त 2019 को बंद कर दी गई थीं और ठीक 7 महीने बाद इन सर्विसेज को वापस बहाल किया गया है

हालांकि अभी हाई स्पीड 4जी मोबाइल इंटरनेट पर लगा बैन अगले आदेश तक जारी रहेगा. कल ही जम्मू कश्मीर प्रशासन ने करीब सात महीनों बाद केंद्र शासित प्रदेश में सोशल मीडिया पर लगे प्रतिबंधों को हटा लिया था लेकिन सूबे में मोबाइल इंटरनेट अभी भी 2जी पर ही चलेगा.

बता दें कि जम्मू कश्मीर के गृह विभाग ने बुधवार को प्रदेश में पांच अगस्त से जारी सोशल मीडिया पर लगे प्रतिबंधों को हटा दिया था. अब तक यहां के लोग मोबाइल इंटरनेट का इस्तेमाल सिर्फ वाइट लिस्टेड साइट्स के लिए 2जी स्पीड पर ही कर पा रहे थे.

कल अपने आदेश में जम्मू-कश्मीर गृह विभाग ने कहा था कि प्रदेश में मोबाइल इंटरनेट की स्पीड को 2जी तक ही सीमित रखा गया है. इस आदेश में कहा गया है कि प्रदेश में पोस्टपेड सिम कार्ड धारक ही मोबाइल इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं और प्रीपेड सिम वाले उपभोक्ताओं को मोबाइल इंटरनेट का इस्तेमाल उनकी पूरी जांच करने के बाद ही करने दिया जाएगा.

5 अगस्त को बंद किया गया था मोबाइल इंटरनेट
गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट को 5 अगस्त से बंद कर दिया गया था. इस दिन जम्मू कश्मीर से धारा 370 को हटा कर केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया था. उसके बाद लगातार समय-समय पर प्रदेश प्रशासन मोबाइल इंटरनेट पर लगे प्रतिबंधों पर गौर करता रहा. लेकिन, प्रदेश में मोबाइल इंटरनेट के जरिए आतंकियों और सीमा पार बैठे उनके आकाओं के बीच लगातार संपर्क की खबरों के चलते प्रदेश में मोबाइल इंटरनेट पर कई प्रतिबंध लगे रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.