दिल्ली सरकार ने दफ्तरों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर रोक लगाई, सभी प्राइमरी स्कूल 31 मार्च तक बंद किए गए

0
225

नई दिल्ली. कोरोनावायरस को लेकर सरकार चिंतित है। इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने गुरुवार को संसद में बयान दिया। उन्होंने राज्यसभा में कहा कि संक्रमित पाए गए सभी 30 मरीजों की निगरानी की जा रही है। सभी की हालत स्थिर है। इन मामलों पर नजर रखने के लिए मंत्रियों का समूह बनाया गया है। विदेशों से आने वाले सभी यात्रियों की 21 एयरपोर्ट और 12 बंदरगाहों पर स्क्रीनिंग की जा रही है। इनके फोन नंबर और पते नोट किए गए हैं। इस बीच दिल्ली सरकार ने अपने सभी दफ्तरों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर रोक लगा दी है और पांचवीं तक के सभी स्कूलों को 31 तक बंद किए जाने के निर्देश दिए हैं। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेल्जियम के ब्रूसेल्स की यात्रा भी स्थगित कर दी गई है। मोदी को वहां यूरोपियन यूनियन और भारत के बीच होने वाले शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेना था।

राहुल गांधी ने कोरोनावायरस को लेकर सरकार की चिंता पर सवाल उठाए। ट्वीट में तंज कसा, ‘‘स्वास्थ्य मंत्री कह रहे हैं कि स्थिति नियंत्रण में है। ऐसा लग रहा है कि टाइटैनिक के कप्तान ने यात्रियों से कहा कि जहाज नहीं डूबेगा। सरकार को वायरस को रोकने की मजबूती से कोशिश करना चाहिए।’’

गांवों के लिए भी हेल्पलाइन नंबर जारी करें- कांग्रेस

स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यसभा के बाद लोकसभा में भी कोरोनावायरस को लेकर बयान जारी किया। इसके बाद सभी को अलग-थलग रखा गया। इसके बाद अधीर रंजन चौधरी ने ग्रामीण इलाकों में कोरोनावायरस की रोकथाम को लेकर उपाय करने का मुद्दा उठाया। चौधरी ने कहा कि सरकार एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग कर रही है, लेकिन गांवावालों का क्या? उनके लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाना चाहिए। अगर उनके अंदर वायरस के लक्षण सामने आते हैं तो वे क्या करेंगे? इसके लिए बच्चों को ध्यान में रखते हुए भी अभियान चलाने की जरूरत है।  

4 मार्च तक 6 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की गई

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने कोरोनावायरस को लेकर एडवाइजरी जारी की है। चीन, इटली, कोरिया और जापान समेत अन्य देशों से आए लोग संक्रमित मिले हैं। 4 मार्च तक 6 लाख से ज्यादा लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। सरकार बॉर्डर वाले इलाकों में ग्राम सभाओं के जरिए लोगों को संक्रमण से बचने के लिए जागरूक कर रही है। उन्होंने कहा कि विदेशों से लाए गए संदिग्ध मरीजों को हरियाणा के मानेसर और दिल्ली के छावला सेंटर में रखा गया है।

सरकार ने 2 महीने पहले ही तैयारियां शुरू कर दी थीं

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमारे दूतावास लगातार लोगों के संपर्क में हैं। सरकार ने 17 जनवरी को डब्ल्यूएचओ की ओर से एडवाइजरी जारी होने से पहले ही तैयारियां शुरू कर दी थीं। हमारा फोकस अस्पताल, लैबोरेटरी और अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं को बढ़ाने पर है। सरकार ने राज्यों की मदद के लिए गाइडलाइन तैयार की हैं। 

संसद में भी थर्मल स्कैनर लगाने की मांग
संसद में भी कोरोनावायरस का डर है। महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत रवि राणा और राज्यसभा सांसद सुशील कुमार गुप्ता गुरुवार को मास्क पहनकर पहुंचे। गुप्ता ने राज्यसभा के सभापति से संसद में थर्मल स्कैनर लगाने समेत बचाव के अन्य जरूरी उपाय करने की मांग की। 

देश के 6 शहरों में मिले 30 कोरोनावायरस संक्रमित

केरल के 3 मरीज : ये चीन के वुहान से लौटे थे। इनमें फरवरी में संक्रमण की पुष्टि हुई थी। अब ये पूरी तरह ठीक हो चुके हैं।
दिल्ली का 1 मरीज : ये इटली से भारत लौटा था। इसका इलाज किया जा रहा है।
आगरा के 6 मरीज : इटली से दिल्ली लौटा संक्रमित व्यक्ति आगरा में अपने 6 रिश्तेदारों से मिला। इसलिए ये संक्रमित हुए।
तेलंगाना का 1 मरीज : ये भी इटली से लौटा था। इसके संपर्क में आए 88 मरीजों को निगरानी में रखा गया।
जयपुर के 17 मरीज : इनमें से 16 मरीज इटली से आए थे और राजस्थान के 6 जिलों में 8 दिन तक घूमे थे। एक भारतीय ड्राइवर इनके साथ था, जो इन्हें अलग-अलग जगहों पर लेकर गया था। इस तरह कुल 17 लोगों में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है। इनका दिल्ली में आईटीबीपी कैम्प में इलाज चल रहा है। इनमें से एक मरीज जयपुर के जिस अस्पताल के आईसीयू में भर्ती था, वहां 60 अन्य मरीज भी थे। इन मरीजों को भी संक्रमण हो सकने के खतरे की वजह से अलग रखा गया है और निगरानी की जा रही है।
गुड़गांव का 1 मरीज : पेटीएम कंपनी का एक कर्मचारी संक्रमित पाया गया।

उत्तर प्रदेश में 1 मरीज: गाजियाबाद में एक व्यक्ति में पुष्टि हुई है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.