क्राइम ब्रांच ने कहा- दंगे के दौरान 3-4 लोगों ने ताहिर हुसैन को पुलिस से छिपाया, सभी मददगार मुस्तफाबाद के रहने वाले

0
110

नई दिल्ली. उत्तर-पूर्व दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल होने के आरोपी पार्षद ताहिर हुसैन को लेकर दिल्ली पुलिस ने शनिवार को खुलासा किया। क्राइम ब्रांच के सूत्रों ने कहा कि चांद बाग में हिंसा के दौरान 3 से 4 लोगों ने ताहिर हुसैन की पुलिस से छिपे रहने में मदद की थी। ये सभी लोग मुस्तफाबाद के रहने वाले बताए जा रहे हैं। इसके बाद दिल्ली पुलिस ताहिर के मददगार रहे लोगों पर निगरानी रख रही है। जल्द ही इन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।दरअसल, आप से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन पर हिंसा के दौरान आईबी कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा की हत्या का आरोप है। शुक्रवार को दिल्ली की एक अदालत ने इस मामले में उसे 7 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था। ताहिर 6 दिन से फरार था। 

इससे पहले ताहिर ने रोज एवेन्यू कोर्ट में सरेंडर की कोशिश की थी, लेकिन अदालत ने यह कहते हुए इनकार कर दिया था कि यह हमारे अधिकार क्षेत्र का मामला नहीं है। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने उसे कोर्ट की पार्किंग से गिरफ्तार किया। ताहिर ने कड़कड़डूमा कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए भी अर्जी दाखिल की थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। ताहिर के खिलाफ आईबी के हेड कॉन्स्टेबल अंकित शर्मा के परिवार ने 28 फरवरी को हत्या का केस दर्ज करवाया था। शर्मा का शव ताहिर के घर के नजदीक नाले से मिला था। दिल्ली हिंसा में नाम सामने आने के बाद आम आदमी पार्टी ने ताहिर को पार्टी से निलंबित कर दिया था।

उत्तर पूर्व दिल्ली में 53 की मौत

दिल्ली में तीन दिन तक चली हिंसा में अंकित शर्मा और दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल समेत 53 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 200 से ज्यादा लोग इसमें घायल हुए थे। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में टकराव की शुरुआत 22 फरवरी की शाम को हुई थी, जब जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी जुटने लगे, जिनमें ज्यादातर महिलाएं थीं।

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि शाहीन बाग की तरह हम यहां से भी नहीं हटने वाले। लेकिन, पुलिस वहां से तिरपाल और तख्त उठाकर ले गई थी। पूर्व दिल्ली स्थित मौजपुर में भी प्रदर्शनकारियों ने एक सड़क बंद कर रखी थी। हिंसा के दौरान सुरक्षाबलों ने आगजनी की 300 घटनाएं रोकीं। इसके बावजूद दंगाइयों ने 79 घर और 327 दुकानें पूरी तरह से जला दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.