इटली में एक दिन में 133 लोगों की मौत, पूरा देश लॉकडाउन; कतर ने भारत समेत 14 देशों के यात्रियों पर प्रतिबंध लगाया

0
89

बीजिंग/रोम. चीन के वुहान शहर से फैला कोरोनावायरस सोमवार तक 109 देशों तक फैल चुका है। चीन के बाद इटली में सबसे ज्यादा 366 लोगों की जान गई है। यहां रविवार को 133 लोगों की मौत हो गई। 24 घंटे में संक्रमण का 1200 नए मामलों की पुष्टि हुई। इटली सरकार ने देश के डेढ़ करोड़ लोगों को लॉकडाउन कर दिया है। कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए कतर ने 9 मार्च से भारत समेत 14 देशों के यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं। वहां की सरकार ने रविवार को इसकी घोषणा की। कतर ने चीन, मिस्र, भारत, ईरान, इराक, लेबनान, बंग्लादेश, नेपाल, पाकिस्तान, फिलीपींस, दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, सीरिया और थाईलैंड पर यात्रा प्रतिबंध लगाए हैं। कतर एयरवेज ने पहले ही इटली के लिए उड़ानें रद्द कर दी हैं। कतर में अब तक 15 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।


जानकारी के मुताबिक, दुनियाभर में अब तक 1 लाख 10 हजार 92 मामलों की पुष्टि हुई है। जबकि 20 देशों में 3831 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। चीन के हेल्थ कमीशन के मुताबिक, यहां एक दिन में 22 लोगों की मौत हुई है जो पिछले एक महीने में सबसे कम है। चीन में अब तक 3119 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां अब तक संक्रमण का 80,735 मामला सामने आया है। देश में कोरोनावायरस से पीड़ित 100 साल के बुजुर्ग की हालत पूरी तरह ठीक हो गई है। उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

चीन के निर्यात में गिरावट
कोरोनावायरस के चलते बीते दो महीनों में चीन के कारोबार पर बुरा असर पड़ा है। निर्यात में 17.2% की गिरावट आई है। यह फरवरी 2019 के दौरान अमेरिका से ट्रेड वॉर के बाद से सबसे बड़ी गिरावट है। चीन के आयात में भी 4% की कमी आई है।

अमेरिका में 500 से ज्यादा संक्रमित, 21 की मौत
अमेरिका में कोरोनावायरस से 21 लोगों की जान गई है। संक्रमितों का आंकड़ा 500 के पार पहुंच गया। ट्रम्प सरकार अब इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए सेना को बुलाने पर विचार कर रही है। मरने वालों में ज्यादातर जापान के डायमंड प्रिंसेज शिप से लौटे यात्री हैं। अमेरिका लाए गए लोगों को फिलहाल क्वारैंटाइन (अलग-थलग) किया गया है। कैलिफोर्निया के तट से दूर प्रिंसेज शिप पर हेलीकॉप्टर से मेडिकल किट पहुंचाई जा रही है।

पाकिस्तान में एक मरीज पूरी तरह स्वस्थ
पाकिस्तान में एक नए मरीज की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य मंत्री जफर मिर्जा के मुताबिक, देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7 पर पहुंच गई। उन्होंने कहा, ‘‘कराची के एक व्यक्ति में कोरोनोवायरस टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। सभी संक्रमितों को क्वारैंटाइन (अलग-थलग) किया गया है। एक व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ हुआ है, जिसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।’’

60924 लोग सही हुए, 6041 की हालत गंभीर
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, अभी तक दुनियाभर के 60924 संक्रमित नागरिक ठीक हो चुके हैं। चीन के बाहर 24,724 लोग संक्रमित हुए हैं और 563 लोगों की मौत हुई है। चीन के हेल्थ कमीशन ने रविवार को कहा कि शनिवार को अस्पताल से 1660 लोगों को छुट्टी मिली। यहां अब तक 57,065 नागरिक ठीक हो चुके हैं। चीन में सबसे ज्यादा हुबेई प्रांत में 67707 लोग संक्रमित हुए हैं। यहां का वुहान शहर कोरोनावायरस का केंद्र रहा है।

मलेशिया और थाईलैंड ने कोस्टा फॉर्च्यूना क्रूज अपने बंदरगाह पर आने से रोका
मलेशिया और थाईलैंड ने कोरोनावायरस के डर से 2,000 लोगों को लेकर पहुंचे कोस्टा फॉर्च्यूना क्रूज को अपने बंदरगाहों पर आने से बैन कर दिया है। इसमें इटली के 64 लोग हैं। इस जहाज पर कोरोनोवायरस का एक भी संदिग्ध नहीं है। शुक्रवार को कोस्टा फॉर्च्यूना क्रूज को थाईलैंड के फुकेट आईलैंड पर रुकने की इजाजत नहीं मिली थी। शनिवार को इस जहाज ने मलेशिया के पेनांग स्टेट में डॉक करने की कोशिश की थी, लेकिन इसे रोक दिया गया। मलेशिया के स्थानीय नेता फी बून पो ने बताया कि मलेशिया ने सभी जहाजों को अपने बंदरगाहों पर प्रवेश नहीं देने का निर्णय लिया है। इसलिए कोस्टा फॉर्च्यूना को भी यहां आने की इजाजत नहीं दी गई।

दक्षिण कोरिया में 7313 और ईरान में 6566 चपेट में
एशिया में दक्षिण कोरिया, ईरान सबसे ज्यादा इससे प्रभावित है। ईरान में संक्रमितों की संख्या 6566 और मौतों का आंकड़ा 197 हो गया है। दक्षिण कोरिया में 7313 केस सामने आए हैं, वहीं मरने वालों की संख्या 44 से बढ़कर 50 पहुंच गई है। द. कोरिया के दाएगू शहर सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां 5 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो चुकी है। यहां 100 से ज्यादा चर्च के प्रार्थना सभा पर रोक लगा दी गई है। जापान में संक्रमण के 1198 मामले सामने आए हैं, जबकि 13 लोगों की मौत हो चुकी है। उधर, भूटान में कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया है। एक अमेरिकी पर्यटक में संक्रमण की पुष्टि हुई है। 76 साल का अमेरिकी नागरिक दो मार्च को भारत से भूटान आया था। 5 मार्च को बुखार के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.