एसबीआई ने एक ही महीने में दूसरी बार घटाईं एफडी पर ब्याज दरें, वहीं कर्ज हुआ सस्ता

0
73

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी ऋणदाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में एक ही महीने में दूसरी बार कटौती कर दी है. एसबीआई के मुताबिक नई दरें 10 फरवरी से ही लागू मानी जाएगीं. यह नई दरें अलग-अलग समय की एफडी के अनुसार अलग-अलग हैं.

एसबीआई के ओर से जारी नए अपडेट के अनुसार 7 से 45 दिन तक की एफडी पर पहले की अपेक्षा 0.5 प्रतिशत की कटौती की है. पहले इस अवधि की एफडी पर ब्याज दर 4.5 प्रतिशत था जो कि अब घटकर 4 फीसदी रह गया है. वहीं 46 से 179 दिनों वाली एफडी पर ब्याज का दर 5 प्रतिशत रहेगा. वहीं एक से पांच साल की अवधि वाली एफडी पर ब्याज का दर 5.90 प्रतिशत रहेगा. इससे पहले इस अवधि वाली एफडी की ब्याज दर 6 फीसदी थी. वहीं सीनियर सिटीजंस को ब्याज दर में 0.50 फीसदी का इजाफा रहेगा. इसके अलावा 180 दिन या उससे अधिक की अवधि वाले बल्क टर्म डिपोजिट पर भी 15 प्वाइंट्स की गिरावट है. यह बदलाव भी 10 फरवरी 2020 से ही लागू हैं.

जानिए ब्याज की नई दरें –

7 से 45 दिनों के लिए – 4 प्रतिशत

46 दिनों से 179 दिनों तक – 5 प्रतिशत

180 दिनं से 210 दिनों तक – 5.9 प्रतिशत

1 साल से लेकर दो साल से कम तक – 5.9प्रतिशत

5 साल से लेकर 10 साल तक – 5.9 प्रतिशत

वहीं इन सब अवधियों की एफडी के लिए सीनियर सिटीजंस को 0.50 प्रतिशत अधिक ब्याज मिलेगा. जैसे 7 से 45 दिनों वाली एफडी के लिए सामान्य खाताधारक को 4 प्रतिशत ब्याज मिलेगा. वहीं इसी अवधि की एफडी के लिए सीनियर सिटीजंस को 4.5 प्रतिशत ब्याज मिलेगा.

SBI का कर्ज हुआ सस्ता, 0.15 प्रतिशत की कटौती

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अलग-अलग अवधि के लिए MCLR में 0.15 फीसदी की कटौती की है. यह कटौती 10 मार्च से प्रभावी मानी जाएगी. आपको बता दें कि यह वित्तीय वर्ष 2019-20 में 10वीं बार की गई कटौती है. MCLR का मतलब मार्जिन कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेडिंग रेट है. इसका सीधा असर लोन लेने वाले उन ग्राहकों पर पड़ता है जिन्होंने लोन 2016 के पश्चात लिया है. इसके बाद MCLR पर ही लोन मिलता है. इसके बाद एसबीआई से लोन लेने वाले ग्राहकों को अलग-अलग लोन पर फायदा होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.