संक्रमण से पहली मौत कर्नाटक में, दिल्ली में आईपीएल का कोई भी मैच नहीं होगा

0
72

नई दिल्ली. देश में कोरोनावायरस के संक्रमण से मौत का पहला मामला कर्नाटक में सामने आया। यहां मंगलवार को एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई थी, गुरुवार को आई रिपोर्ट में यह साफ हो गया कि मौत की वजह कोरोनावायरस का संक्रमण था। देश में संक्रमण के अब तक 78 मामले सामने आ चुके हैं। इस बीच दिल्ली और हरियाणा में कोरोना को महामारी घोषित कर दिया गया है। दिल्ली में 31 मार्च तक सभी सिनेमा हॉल बंद करने के निर्देश दिए हैं। जिन स्कूल और कॉलेजों में परीक्षाएं नहीं हो रही हैं, वे भी 31 तक बंद रहेंगे। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, अगले आदेश तक दिल्ली में खेल से जुड़े सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। आईपीएल का भी कोई मैच नहीं होगा। साथ ही ऐसे कोई कार्यक्रम नहीं होंगे, जहां सैकड़ों-हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा हों। सभी राज्यों के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया है। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाले दिनों में केंद्रीय मंत्री विदेशों का दौरा नहीं करेंगे।

आंध्र प्रदेश में गुरुवार को कोरोनावायरस का पहला मरीज मिला। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक संक्रमित व्यक्ति 6 मार्च को इटली से नेल्लोर लौटा था। उसके संपर्क में आने वाले पांच लोगों को भी क्वारैंटाइन किया गया है। इधर, न्यूज एजेंसी ने महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री के हवाले से राज्य में संक्रमितों की संख्या 14 होने की जानकारी दी है। यहां गुरुवार को मिला पुणे में मिला संक्रमित मरीज हाल ही में अमेरिका से लौटा था। इसको मिलाकर अकेले पुणे में ही अबतक 9 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है।

उत्तराखंड और ओड़िशा में भी सभी स्कूल 31 मार्च तक बंद
उत्तरखंड सरकार ने भी 31 मार्च तक सभी स्कूल बंद कर दिए हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हमने सभी होटलों को सुरक्षा मामलों को लेकर एडवाइजरी जारी की है। उनसे विदेशी यात्रियों को ठहराने से पहले सभी सुरक्षा उपायों को अपनाने के लिए कहा है। इस बीच ओड़िशा सरकार ने भी 31 मार्च तक सभी स्कूलों को बंद करने की घोषणा की है। सिर्फ परीक्षा के लिए स्कूल खोलने की छूट दी गई है। सिनेमा हॉल, स्वीमिंग पुल और जिम भी बंद रहेंगे। ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने विधानसभा में कहा कि गैर-जरूरी सेमिनार, वर्कशॉप और कॉन्फ्रेंस भी 31 मार्च तक नहीं होंगे। धार्मिक कार्यक्रमों, शादी, रिसेप्शन और पार्टी स्थानीय अधिकारियों की देखरेख में होंगे।

मोदी ने बड़े आयोजनों से बचने की सलाह दी

मोदी ने कहा, ”मेरी लोगों से अपील है कि विदेश यात्रा से बचें। बड़े आयोजनों में शामिल न होकर संक्रमण से बचा जा सकता है। सरकार मामले पर नजर रखे हुए है। राज्यों से भी हमने सुरक्षा के उचित कदम उठाने को कहा है।” इस बीच, ईरान से भारतीयों को निकालने के लिए दो विमान भेजे जाएंगे। पहला विमान 13 मार्च और दूसरा 15 मार्च को देर रात भेजा जाएगा।

ब्रिटेन-इजराइल के प्रधानमंत्री ने मोदी से बात की

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि गुरुवार को प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात हुई। दोनों ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तालमेल पर जोर दिया। इससे पहले इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने गुरुवार सुबह मोदी से बातचीत की और कोरोना को फैलने से रोकने के लिए आपसी सहयोग पर सहमति जताई।

राष्ट्रपति भवन पर्यटकों के लिए बंद

कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए राष्ट्रपति भवन संग्रहालय परिसर और चेंज ऑफ गार्ड समारोह अगले नोटिस तक आम जनता के लिए बंद कर दिया गया है। राष्ट्रपति भवन भी 13 मार्च से अगले नोटिस तक आम जनता के लिए बंद रहेगा। गुरुवार को इसका आदेश जारी कर दिया गया।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक देश के एयरपोर्ट्स पर विदेशों से आए 10 लाख 57 हजार 506 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। सामुदायिक निगरानी के लिए 35 हजार लोगों को तैनात किया गया है। संक्रमित लोगों को ट्रैक करने के लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं। सभी राज्यों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं।

संक्रमण के खौफ के चलते आम लोगों से लेकर सरकारी कर्मचारी तक मास्क पहनकर ही घर से निकल रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लोकसभा में बताया कि राज्यों से रोज विस्तृत रिपोर्ट ली जा रही है। इसमें कोई भी गलतफहमी की गुंजाइश नहीं है। एयरपोर्ट्स पर स्क्रीनिंग में भी कोई लापरवाही नहीं बरती जा रही। 17 जनवरी को सबसे पहले 7 एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग शुरू की गई थी, जो अब बढ़ाकर 30 कर दी गई है। हर्षवर्धन ने सांसदों से अपील की कि वे अपने चुनाव क्षेत्र में कोरोनावायरस को लेकर जागरूकता फैलाएं।

51 लैब और 56 कलेक्शन सेंटर बनाए
हर्षवर्धन के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस की जांच के लिए 51 लैब और 56 कलेक्शन सेंटर बनाए गए हैं। 100 कोऑर्डिनेशन सेंटर हैं। ईरान से लोगों को लाए जाने पर कहा कि भारत वहां वैज्ञानिक और लैब उपकरण भेजेगा। ईरान ने कहा था कि उनके पास जांच की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। भारत सरकार वुहान और जापान से नागरिकों को ला चुकी है, अब ईरान से लाने की तैयारी है।

देश में कोरोनावायरस के अब तक 77 मामले

राज्य/केंद्रशासित प्रदेशभारतीय नागरिकविदेश नागरिक
दिल्ली60
हरियाणा014
केरल170
राजस्थान12
तेलंगाना10
उत्तर प्रदेश101
लद्दाख30
तमिलनाडु10
जम्मू-कश्मीर10
पंजाब10
कर्नाटक40
महाराष्ट्र140
आंध्र प्रदेश10
कुल6017

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.