पटना में गंगा 72 घंटे से खतरे के निशान के पार, फरक्का के सभी गेट खोले गए

0
38
Ganga crosses danger mark in Bihar, minister seeks policy on silt ...
पटना में गंगा खतरे के निशान से ऊपर

बाणसागर डैम से सोन नदी में 1 लाख 80 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने के बाद बिहार में एलर्ट कर दिया गया है। रोहतास से लेकर पटना तक जिला प्रशासन को हाई अलर्ट किया गया है। यह पानी 5 दिन में रोहतास पहुंच जाएगा। बारिश की वजह से बाणसागर डैम लबालब है। वहां पानी का स्तर 341.21 मीटर तक पहुंच गयी है। यह अपने अधिकतम जलस्तर 341.64 मीटर से मात्र 40 सेंटीमीटर नीचे है।

इसी के बाद वहां से सोन में पानी छोड़ा गया है। इस पानी के बाद सोन में पांच से दस फीट जलस्तर बढ़ने की संभावना है। उधर गंगा का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। पटना में नदी पिछले 72 घंटे से खतरे के निशान के ऊपर है। गांधीघाट में नदी खतरे के निशान से 11 सेंटीमीटर जबकि हाथीदह में 27 सेंटीमीटर ऊपर है। नदी बीती रात कहलगांव में भी लाल निशान को पर कर गयी।

जल संसाधन मंत्री बोले- हालात अभी नियंत्रण में
जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि अभी स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। गंगा खतरे के निशान से ऊपर है और इसका जलस्तर बढ़ रहा है। बाणसागर डैम से 1.80 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से हमारी चिंता बढ़ी है। इसको लेकर अलर्ट किया गया है। झा गंगा और इसके किनारे बनी पटना सुरक्षा दीवाल का निरीक्षण करने पहुंचे। अधिकारियों और इंजीनियरों को सतर्कता बरतने को कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.